विशेष (07/04/2021) 
चौ.अनिल कुमार ने 3000 के आस पास केन्टेन्टमेन्ट जोन के परिवारों को दिल्ली सरकार से 10,000 रूपए की आर्थीक मदद की मांग की।
 दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ.अनिल कुमार ने दिल्ली में बढ़ते कोरोना महामारी मामलों पर चिन्ता व्यक्त करते हुऐ कहा कि दिल्ली में कोरोना़ के मामलें दिन-प्रतिदिन लगातार बढ़ते ही जा रहे है।  उन्होंने कहा कि  हर 7 दिनों में कोरोना संक्रमण की संख्या 2 गुना हो गई और 5 दिनों में कोरोना से मरने वालों की संख्या 5 गुना हो गई है, और दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवला कह रहे है कि कोरोना की चौथी लहर खतरनाक नहीं है, दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवला कोरोना विशेषज्ञों की राय के अलग ही बात कर रहे है वें कोरोना विशेषज्ञों की राय व सुझाव को मानते ही नहीं है। चौ.अनिल कुमार ने लगभग 3000 के आस पास केन्टेन्टमेन्ट जोन के परिवार को दिल्ली सरकार से 10000 रूपए की आर्थीक मदद की मांग की ।

चौ.अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बावजूद दिल्ली सरकार ने कोरोना टेस्टों में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की और आरटी-पीसीआर टेस्ट भी जरूरत से आधे लगभग 50 हजार ही हो रहे है जोकि 1 लाख करने की जरूतर है। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में आयोजित आज की इस प्रैस वार्ता में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ.अनिल कुमार के अलावा एडवोकेट सुनिल कुमार तथा अनुज आत्रेय भी मौजूद थे।

चौ.अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल ने अपने एक ट्वीट में कहा है कि “मैंने भगवान से सेटिंग कर रखी है कि मुझे जब तक मौत नहीं जाऐगी जब तक भारत को दुनिया का न.-1  देश न देख लूं”। चौ.अनिल कुमार ने कहा कि वें किस न.-1 की बात कह रहे है, दिल्ली को तो उन्होंने प्रदूषण में न.-1, कोरोना संक्रमण में न.-1, बेरोजगारी में न.-1, बना ही दिया और किस-किस क्षेत्र में न.-1 बनाने की बात कह रहे है। केजरीवाल ने दिल्ली को हर बूरे मानकों में न.-1, बनाने के लिए मोदी व शाह से सेटिंग करके दिल्ली की जनता को भगवान के भरोसे ही छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना से 11,000 से ज्यादा मौतें क्या उनकी मर्जी से हुई है।

चौ.अनिल कुमार ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने और कोरोना महामारी को रोकने के लिए जरूरी उपाय करने की बजाय दिल्ली के मुख्यमंत्री लंदन जा रहे है। चौ.अनिल कुमार ने कहा कि स्थिति हाथ से निकल जाने के बाद ही क्यों विचार किया जाता है, उन्होंने सभी राजनीतिक पार्टियों से आग्रह किया कि इस कोरोना महामरी से निपटना है तो हम सभी को दलगत राजनीति ने निकलकर व मिलकर काम करें तथा ऐसी भयाभय स्थिति से निपटने के लिए सर्वदलिय बैठक भी आयोजित करें जिसमें समाजिक संस्थाओं की राय भी ली जाए। उन्होंने दिल्ली सरकार से मांग कि की वे दिल्ली की जनता को जल्द से जल्द मुफ्त वेक्सीन लगवांऐ और साथ ही साथ दिल्ली में वैक्सीन सेन्टरों की जो संख्या 600 है उन वैक्सीन सेन्टरों की संख्या भी बढ़ाई जाऐ।

चौ.अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा स्थापित मौहल्ला क्लीनिक इस अवस्था में नहीं है कि उनकों वैक्सीनेशन के लिए तैयार किया जा जाए अगर है भी तो उन मौहल्ला क्लीनिक पर अतिआवश्क उपकरण, वैक्सीन का सामन तथा सैनेटाईज करने की सुविधा तक नहीं हैं। कुलमिलाकर दिल्ली सरकार द्वारा करोड़ो रूपऐ खर्च करके बनाऐ गए मौहल्ला क्लीनिक आज पूरी तरह से असफल साबित हो रहे है। चौ.अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार पर दबाव बनने के कारण केजरीवाल ने आंशिक रूप से अम्बेड़कर व बुराड़ी को चालू कर दिया लेकिन अभी तक इन्द्रा गांधी अस्पताल को चालू नहीं किया। चौ.अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी झूठा दावा कर रहे है कि अस्पतालों में आई.सी.यू बिस्तर व वेंटिलेटर की कोई समस्या नहीं है, जरूरत के हिसाब से ज्यादा हर सामान उपलब्ध हैं, चौ.अनिल कुमार ने बताया कि वास्तविकता इसके बिल्कुल विपरीत है सच तो यह है कि अभी भी ज्यादातर अस्पलालों में कोरोना जैसी महामरी से निपटीने के लिए जरूरती सामान उचित मात्रा में उपलब्ध ही नहीं है ।

चौ.अनिल कुमार ने कहा कि  दिल्ली सरकार ने पिछले 7 सालों में डीटीसी के बेडे़ं में एक भी नई बस नहीं जोड़ी है। उन्होंने कहा कि एक तरिके से देखा जाए तो कोरोना मामलों में वृद्धि का एक कारण डीटीसी के बैडें में बसों का कम होना भी है, क्योंकि बसों में भीड़ के कारण कोरोना फैलने में मदद मिली है अगर बसों की संख्या अधिक होती तो आज ये स्थिति पैदा न होती। उन्होंने निजी विद्यालयों की बसों को सेवा में लेने का सुझाव दिया।

चौ.अनिल कुमार ने दिल्ली सरकार से मांग कि जो दिल्ली का परिवार कन्टेन्टमेंट जोन में आता है उनको परिवार को तुरन्त प्रभाव से न्याय योजना के आधार पर प्रत्येक परिवार को 10 हजार आर्थिक सहायता प्रदान करें। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण पिछले वर्ष लगे लाकडाउन की वजह से हुई आर्थिक संकट से वें लोग अभी कोरोना की आर्थीक मार से निकले ही नहीं थें कि कोरोना की चौथे स्तर ने उनके जीवन को ही बरबादी तरफ मोड़ कर रख दिया है।

चौ.अनिल कुमार ने बीजापुर में नक्सलियों द्वारा छिपकर हमारे भारतीय जवानों पर हमला किए जाने की नींदा की और शहीद हुऐ अपने 22 भारतीय जवानों को श्रद्धांजलि दी। इन 22 भारतीय जवानों के शहीद होने का जिम्मेदार मोदी और शाह को ठहराते हुऐ चौ.अनिल कुमार ने कहा कि मोदी और शाह की नाकामियों की बजह से आए दिन हमारे भारतीय जवान शहीद हो रहे है। उन्होंने कहा कि अगर हमे अपने देश और जवानों को बचाना है तो ऐसी भ्रष्टाचारी सरकार को जड़ से उखाड़ना होगा ।
Copyright @ 2019.