05/10/2014  सरकार की अक्षमता का खामियाजा किसान क्यों भुगते - कांग्रेस
कस्टम मिलिंग न हो पाने के कारण किसानों से सिर्फ 10 क्विंटल धान खरीदी किये जाने के मुख्यमंत्री रमन सिंह के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव ने कहा है कि धान की कस्टम मिलिंग कराना तो राज्य सरकार की जिम्मेदारी है। सरकार द्वारा कस्टम मिलिंग न करा पाने का नुकसान छत्तीसगढ़ के धान उगाने वाले किसानों को उठाना पड़े, भाजपा सरकार के लिये इससे ज्यादा शर्मनाक और कुछ भी नहीं हो सकता है। चुनाव निकलते ही भाजपा ने हमेशा यूज एण्ड थ्रो की पॉलिसी का सहारा लिया। राशन कार्ड धारकों के बाद अब धान उगाने वाले किसानों के साथ यही धोखाधड़ी यही साजिश यही प्रपंच किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ की 85 प्रतिशत जनसंख्या कृशि पर अपनी आजीविका के लिये निर्भर है। भाजपा सरकार के इस फैसले ने किसानों के साथ-साथ पूरे छत्तीसगढ़ के किसानों की अर्थव्यवस्था को धूल चटा दी है। कांग्रेस नेताओं ने सरकार से मांग की है कि सरकार तत्काल धान खरीदी के अपने फैसले को वापस ले अपने वायदे अनुसार तथा परंपरागत रूप से किसानों के एक-एक दाना धान की खरीदी की जाये।
Copyright @ 2017.