06/10/2014  छत्तीसगढ में किसानो की मांगो को लेकर कांग्रेस करेगी उग्र व्यापक राज्यव्यापी प्रदर्नश
छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के जिला प्रभारियों प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष, उपाध्यक्षगण, महामंत्री एवं जिला प्रभारी कार्यसमिति के सदस्यों की बैठक में फैसला लिया है कि पंजीयन की प्रक्रिया के खिलाफ ऋण पुस्तिका के आधार पर धान खरीदी की जायें, 1 दिसंबर की वर्तमान घोषित तिथि को बदल कर पूवर्वत 1 नवंबर से धान खरीदी की जायें, सोसायटी में प्रति एकड़ धान खरीदी की मात्रा पूर्ववत रखी जाये। 2100 रू. समर्थन मूल्य में धान खरीदी का वादा भाजपा सरकार निभायें, इस वर्ष 300 रू. बोनस तत्काल धान के समर्थन मूल्य के साथ-साथ दिया जायें। 8 से 15 अक्टूबर तक सभी ब्लाकों में धरना प्रदर्षन। सरपंच से लेकर विधायक सांसद तक सभी जनप्रतिनिधियों से किसानो की मांगो के लिये कांग्रेसजन हस्ताक्षर अभियान चलाकर समर्थन मांगेगे। इसके बाद सरकार अपनी धान खरीदी नीति का परिवर्तन नहीं करती, किसानो के पूरे धान खरीदी की घोषणा नहीं करती तो कांग्रेस पूरे राज्य में 1 नवंबर को आर्थिक नाकेबंदी करेगी। नगरीय निकाय चुनावों में युवाओं और सदस्यता अभियान में सक्रियता से भागीदारी करने वालो को प्राथमिकता देने का भी बैठक में निर्णय लिया गया। कांग्रेस की सदस्यता अभियान को हर मतदान केन्द्र में चलाकर बूथ स्तर कमेटियों का गठन किया जायेगा। बैठक में उपाध्यक्षगण बोधराम कंवर, पी.आर. खूंटे, घनाराम साहू, शांति सलाम, कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, महामंत्री प्रेमसाय सिंह, देवव्रत सिंह, रूद्रकुमार गुरू, राजेश तिवारी, शैलेश नितिन त्रिवेदी, गिरीश देवांगन, पदमा मनहर, छाया वर्मा, अटल श्रीवास्तव, दीपक दुबे, शंकर लाल ताम्रकार, नंदिनी साहू, कार्यसमिति सदस्य गंगा ठाकुर पोटाई, धनेश पाटिला, प्रतिमा चंद्राकर, कैलाश पोयाम, दीपक कर्मा, गोपाल थवाईत, कृष्णकुमार यादव उपस्थित थे।

Copyright @ 2017.