02/01/2015  पुस्तक मनानंजलि का विमोचन
अजमेर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के कर्मचारी रहे स्वर्गीय ओ पी शर्मा की कविताओं के संकलन मनानंजलि का रविवार को राज्यसभा सांसद भूपेन्द्र  यादव ने विमोजन किया। इस दौरान सतीश पुनिया ने एक बगीचे ओम धरोहर का भी शुभारम्भ किया। शर्मा की लिखी कविताओं को उनकी पुत्राी शिखा शर्मा व पुत्रा विवेक ने संकलित कर उसे पुस्तक का रूप दिया था। कार्यक्रम में संगीतज्ञ नासिर मदनी ने  ऐ पथिक! ऐ बागबान मुड कर कौनसे मोड गये, सूनी हर राह, सूना बाग छोड गये, पल-पल हुआ बैरी, क्यों साँसो की माला तोड गये गायन के साथ स्वर्गीय ओ पी शर्मा को श्रदांजलि अर्पित की। शर्मा के निवास पर आयोजित कार्यक्रम में यादव ने अजमेर में बिताए दिनों की सुखद अनुभूति सभाजनों के संग साझा की। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुये सतीश पुनिया ने कहा कि गीताजंलि, पुष्पाजलि भी लिखी, लेकिन मनांजलि तो शिखा शर्मा ने ही लिखी है। कहा कि लिखने की ललक समर्पण के साथ ही कविता निकलती है, जो शिखा शर्मा ने 14 वर्ष की उम्र में एक कविता लिखी है। पुष्कर विधायक सुरेश रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष अरविंद यादव, ओमप्रकाश भडाणा, राहुल एबीवीपी के भारद्वाज, विवि कालेज छात्रा संघ अध्यक्ष राजीव भारद्वाज सहित आदि अन्य गणमान्य लोग उपसिथत थे। कार्यक्रम का संचालन वर्तिका शर्मा ने किया।
Copyright @ 2017.