11/01/2015  दस-दस हजार के निजी मुचलके पर किया रिहा
अजमेर(कलसी)। गत पांच सालों से किशनगढ के प्रसिद्व मार्बल व्यवसार्इ आरके मार्बल के खिलाफ मोर्चा खोले भोपो का बाडा निवासी पीरदान सिंह ने 6 जनवरी को एएसपी और सिटी मजिस्ट्रेट के साथ 3 घंटे वार्ता की थी, लेकिन वार्ता के दौरान ही पुलिस प्रशासन का रुख आर के मार्बल के पक्ष में दिखार्इ दिया, जिसके बाद पीरदान ने ऐलान किया था कि यदि 10 जनवरी तक उसे न्याय नहीं मिला तो वो अपनी पत्नी दो बेटे और दो बेटियो के साथ सामूहिक आत्मदाह कर लेगा। पीरदान की धमकी से सकपकाये पुलिस प्रशासन ने शनिवार को मय जाब्ता उसके घर में प्रवेश किया और परिवार के सभी सदस्यों के साथ धक्का मुक्की करते हुए उन्हें अपनी हिरासत में ले लिया ।
किशनगढ के मार्बल व्यवसार्इ के खिलाफ न्याय की लडार्इ लड रहे पीरदान सिंह द्वारा सामूहिक आत्मदाह की धमकी के बाद सिविल लार्इन थाना पुलिस ने उन्हें परिवार सहित पकड कर थाने ले आर्इ और बाद में धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर सिटी मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया।शनिवार सुबह सिविल लार्इन थाना पुलिस सहित 4 थानो के एसएचओ और 3 पुलिस उप अधीक्षक मय जाब्ता पीरदान सिंह के भोपो का बाडा सिथत आवास पर पहुंचे और उसके घर में प्रवेश कर परिवार के सभी 6 सदस्यों को पकड कर थाने ले आए। दोपहर 3 बजे पुलिस उन्हें लेकर सिटी मजिस्ट्रेट की कोर्ट पहुंची जहाँ 1 घंटे तक समझाइश का दौर चला। सिटी मजिस्ट्रेट हरफूल सिंह यादव ने उन्हें काफी देर तक समझाया और आत्मदाह न करने पर राजी करके उनसे लिखित में ले लिया। बाद में उन्हें दस-दस हजार के निजी मुचलके पर रिहा कर दिया। पीरदान सिंह का एक बेटा नाबालिग होने से पहले उसे बाल सुधार गृह भेज दिया , बाद में उसे भी रिहा कर दिया। जमानत पर रिहा होने के बाद पीरदान ने रोते हुए बताया की मैंने प्रशासन से वार्ता के बाद सामूहिक आत्मदाह का फैसला वापिस ले लिया है। मैंने सत्याग्रह के लिए लिखित में आवेदन किया, लेकिन जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं दी। यह तालिबानी फैसला है , मेरे सत्याग्रह को रोकना अपराध है।जमानत देने और आत्महत्या नहीं करने की लिखित तहरीर लेने के साथ साथ सिटी मजिस्ट्रेट ने पीरदान सिंह को काफी देर तक समझाया भी। बाद में पत्राकारों से वार्ता में हरफूल सिंह यादव ने कहा की हमने उन्हें आश्वस्त किया है की उनके या पुलिस स्तर पर जो भी मामले विचाराधीन है उन्हें गंभीरता से सुलझाया जाएगा। हमने नागौर एसपी से भी निवेदन किया है गच्छीपुरा थाने में उनके खिलाफ दर्ज प्रकरण में शीघ्रता से जांच पूरी करे।हरफूल सिंह यादव ने कहा की पीरदान सिंह ने आरके मार्बल के खिलाफ आरोप लगाए है, इनमे एक मामला डीजल चोरी और दूसरा मामला चेक बाउंस का है, ये राजसमन्द जिले का मामला है उन्हें इस मामले को सक्षम अधिकारी या न्यायालय के पास जाना चाहिए। हमारे स्तर पर उन्हें कानूनन सहयोग किया जाएगा।गौरतलब है कि 1 जनवरी को भी पीरदान सिंह ने परिवार के सभी 6 सदस्यों के साथ अपने आप को घर में कैद कर लिया था जिसके बाद एएसपी सिटी और सिटी मजिस्ट्रेट छत के रास्ते उसके घर में प्रवेश कर उससे वार्ता की थी और 10 जनवरी तक उसके मामले का समाधान करने का लिखित आशवासन दिया था। आज पुलिस ने सभी सदस्यों को गिरफ्तार कर उसके घर ताला जड दिया।
Copyright @ 2017.