(10/11/2021) 
यमुना मैली हो गई केजरीवाल के पाप धोते-धोते-आदेश गुप्ता
प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष आदेश गुप्ता एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आज यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में केजरीवाल द्वारा छठ पूजा को लेकर जिस तरह से राजनीति कर रही है

उसको उजागर करते हुए कहा कि केजरीवाल द्वारा छठ को लेकर जिस तरह से लगातार झूठ बोला गया उससे छठ पूजा करने वाले व्रतियों और श्रद्धालुओं को ठेस पहुँची है। दिल्ली में लगातार प्रदूषण की समस्या बढ़ रही है चाहे वह यमुना का पानी जहरीली होना हो या फिर वायु प्रदूषण की समस्या हो। लेकिन केजरीवाल अपने आरोप प्रत्यारोप की राजनीति से बाज नहीं आ रहे हैं। 

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि हर बार यमुना प्रदूषण के लिए केजरीवाल हरियाणा और उत्तर प्रदेश सरकार को दोषी ठहराते हैं जबकि हकीकत यह है कि यमुना जैसे पवित्र नदी को डरावनी नदी में बदलने का असली काम केजरीवाल सरकार ने किया है। उन्होंने केजरीवाल पर तंज कसते हुए कहा कि दिल्ली तेरी यमुना मैली हो गई केजरीवाल के पाप धोते-धोते। उन्होंने कहा कि यमुना का कुल लंबाई का सिर्फ 2 प्रतिशत यानी 22 किलोमीटर दिल्ली से होकर गुजरता है। हरियाणा से जब यमुना बहती हुई दिल्ली में प्रवेश करती है तो पल्ला के पास इसका बीओडी लेवल 2 होता है जबकि ओखला के पास इसका बीओडी लेवल 50 हो जाता है। यानी कुल 80 प्रतिशत यमुना सिर्फ दिल्ली में प्रदूषित होती है। मतलब ये की ओखला के पास जो पानी है उसको पीने तो दूर उसका प्रयोग अगर सिंचाई में भी की जाए तो फसल नहीं उगेंगी। 

 गुप्ता ने कहा कि दिल्ली में 18 ऐसे बड़े नाले हैं जिससे होकर 3500 मिलियन लीटर पानी यमुना में गिरते है। लेकिन अरविंद केजरीवाल जब यमुना में प्रदूषण कम नहीं कर पाए, तो उन्होंने आस्था के महापर्व छठ पूजा पर ही प्रतिबंध लगा दिया। ऐसी शर्मनाक हरक़त करने पर उन्हें शर्म आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली में 13 एसटीपी लगाने के लिए केंद्र सरकार ने केजरीवाल सरकार को 5-6 साल पहले 2418 करोड़ रुपये दिए थे। लेकिन एसटीपी तो कहीं लगी नहीं और इस पैसे का क्या हुआ ये आज तक किसी को नहीं पता चला। आज स्थिति ये है कि दिल्ली में होने वाली 40 प्रतिशत बीमारियों का मुख्य कारण गंदा पानी है। 

 गुप्ता ने कहा कि जब कभी भी चुनाव आता है तो अरविंद केजरीवाल यमुना की सफाई करने से लेकर उसमें डुबकी लगाने की बात करते हैं लेकिन सत्ता में आए 7 साल के बाद भी आज यमुना के ऊपर झागो का फव्वारा तैर रहा है। उन्होंने कहा कि वायु प्रदूषण की बात करने वाले केजरीवाल क्या आज बताएंगे कि दिल्ली में वायु प्रदूषण लेवल 418 है जो कि सबसे खतरनाक स्तर है। 

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद श्री मनोज तिवारी ने कहा कि यह बहुत ही गंभीर विषय है कि प्रतिबंध लगना चाहिए यमुना में तैरते झागों पर लेकिन प्रतिबंध लगाया जा रहा है आस्था के सबसे बड़े महापर्व छठ पूजा पर। योजना तो बननी चाहिए यमुना की सफाई करने की लेकिन योजना बन रही है उस त्योहार को रोकने की। अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए व्रतियों को जाने से रोका जा रहा है ताकि ना छठ व्रती यमुना किनारे जाएंगे और ना ही कालिंदी कुंज में बहने वाली झागों को देख सके। 

 मनोज तिवारी ने कहा कि केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र शेखावत खुद अरविंद केजरीवाल को चिट्ठी लिखकर पूछा है कि जब केंद्र सरकार ने 2481 करोड़ रुपये दिए तो उसका क्या हुआ कि आज यमुना की स्थिति इतनी बदतर है। केजरीवाल को इस बात का डर सताने लगा कि उनकी नाकामी अब उजागर हो चुकी है। इस प्रेसवार्ता में प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष अशोक गोयल देवराहा एवं राजन तिवारी, प्रदेश प्रवक्ता श्रीमती ऋचा पांडेय मिश्रा एवं आदित्य झा उपस्थित थे।
Copyright @ 2019.