स्वास्थ्य (03/05/2021) 
नगर निगमों को भी नये बेड लगाने एवं वैक्सीनेशन सेन्टर खोलने की अनुमति मिले-आदेश गुप्ता
नई दिल्ली, 3 मई। दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा है कि यह खेद का विषय है कि दिल्ली सरकार ने गत कुछ दिनों से नये केस कम दिखाने की मंशा से दिल्ली में टेसटिंग कम करवा दी है और वैक्सीनेशन अभियान पर भी गम्भीर नहीं दिखती। उन्होंने उपराज्यपाल अनिल बैजल का ध्यान इस ओर आकृष्ट किया है। साथ ही यह भी बहुत स्तब्ध करता है की चारों ओर अस्पताल बेड की मांग है पर दिल्ली सरकार ना तो नगर निगमों को अस्पताल बेड बढ़ाने दे रही है और ना ही नये वैक्सीनेशन सेन्टर खोलने दे रही है।

सरकार ने दिल्ली के 11 जिलों में केवल 77 स्कूलों में 18 से 44 वर्ष के युवाओं के लियें वैक्सीनेशन सेन्टर खोले हैं। आज दिन भर ऐसी जानकारी मिली की अनेक स्कूलों में वैक्सीनेशन का कार्य तय समय से दो घंटे बाद शुरू हुआ और लक्ष्मी नगर विधानसभा में तो शुरू ही नही हुआ। लोगों को वैकसीनेशन करवाने घरों से काफी दूर जाना पड़ रहा है।

 गुप्ता ने कहा है कि वैक्सीनेशन अभियान 1 मई से शुरू होना है यह दिल्ली सरकार को बहुत समय से मालूम था पर सरकार ने इस पर तैयारी नही की। जब आज से वैक्सीनेशन अभियान चालू करना था तो कल शाम वैक्सीनेशन सेन्टरों की लिस्ट जारी की और देर रात वैक्सीनेशन की अपॉइंटमेंट प्रक्रिया खोली जिसके चलते सेन्टरों पर आज अव्यवस्था का आलम देखते बनता था।

स्कूलों के बाहर लम्बी कतारे लग रही थी जो संक्रमण फैलाने का कारण बन सकती है तो वहीं अधिकांश स्कूलों में आपातकालीन स्थिति के लिये कोई प्रबंध ही नहीं किये गये हैं।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि यह खेद का विषय है कि आज दिल्ली में चारों ओर कोविड के केस ही केस नजार आ रहे हैं पर सरकारी आंकड़े केस कम होते दिखा रहे हैं। इसका कारण यह है की दिल्ली में टेस्टिंग रोज घटाई जा रही है। सरकार अपने केन्द्रों पर तो टेस्टिंग कम कर ही रही है, निजी लैबों पर भी दबाव डाल रही है की कम टेस्टिंग करें।

आदेश गुप्ता ने उपराज्यपाल श्री अनिल बैजल से मांग की है कि वह दिल्ली में टेस्टिंग एवं 18-44 वर्ष वालों के लिये वैक्सीनेशन सेन्टर बढ़ाने के आदेश दें और साथ ही नगर निगमों को अस्पताल बेड बढ़ाने एवं नये वैक्सीनेशन सेन्टर खोलने की भी अनुमति दें।
Copyright @ 2019.