स्वास्थ्य (14/05/2021) 
अस्पतालों में खर्च की सीमा को तय करें सरकार-आदेश गुप्ता
 प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कोरोना के बिगड़ रहे मामलों की संख्या में बढ़ोतरी को देखते हुए दिल्ली सरकार से सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्रों के अस्पतालों में आई.सी.यू. बेड की संख्या बढ़ाने और निजी अस्पतालों में इसकी उपचार की सीमा तय करने की तुरंत मांग की है।

आदेश गुप्ता ने आज एक बयान जारी करते हुए कहा कि दिल्ली उच्च न्यायालय भी केजरीवाल सरकार को निर्देश दे चुका है, लेकिन केजरीवाल सरकार ने अभी तक इस मुद्दे पर गंभीरता नहीं दिखाई है। उन्होंने कहा कि कोरोना से पीड़ित अब जो मरीज अस्पताल जा रहे हैं उनमें गंभीर मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में ऑक्सीजन बेड और आईसीयू बेड की मांग ज्यादा है और पीड़ितों को उपचार नहीं मिल पा रहा है। गुप्ता ने कहा कि स्वयं केजरीवाल मानते हैं कि इस समय आईसीयू बेड की मांग ज्यादा है। इसलिए उनकी सरकार को अब युद्ध स्तर पर काम करने की जरूरत है।

 आदेश गुप्ता ने कहा कि कोरोना का इलाज इतना महंगा हो चुका है कि गरीब और सामान्य वर्ग तो दूर अब मध्यम और उच्च मध्यम वर्ग के लिए भी अस्पतालों द्वारा उपचार के लिए मांगी जा रही राशि चुकाना बस की बात नहीं रही। ऐसे में केजरीवाल को तुरंत कोरोना के लिए अस्पतालों में ली जा रही राशि सीमा बांधने पर जल्दी ही कोई ठोस कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उपचार  की खर्च सीमा तय होने से जहां पीड़ित परिवार को राहत मिलेगी, वही उच्च न्यायालय के निर्देश के तहत भी ऐसा कदम तुरंत उठाना जरूरी है। सरकार न सिर्फ उपचार की सीमा तय करें, बल्कि उपचार में ली गई सीमा से अधिक राशि को भी वापस दिलाए।
Copyright @ 2019.