अपराध (10/06/2021) 
भाजपा ने बस खरीद की जांच पुलिस को सौंपने की मांग की।
नई दिल्ली, 10 जून। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता ने नई बसों की खरीद में भारी घोटाला होने का आरोप लगाते हुए उपराज्यपाल श्री अनिल बैजल से बस खरीद घोटाले की जांच पुलिस की भ्रष्टाचार विरोधी शाखा को सौंपने की मांग की है। 

उपराज्यपाल को इस सम्बंध में लिखे एक पत्र में श्री आदेश गुप्ता ने कहा 1000 लो फ्लोर बसों की खरीद में कोई पारदर्शिता नहीं है। इस संबंध में दिल्ली परिवहन निगम और केजरीवाल सरकार के परिवहन मंत्री के बयान भी अलग-अलग हैं। उन्होंने कहा कि इस खरीद में बड़े घोटाले की संभावना है जिसे देखते हुए जनहित में इस मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए।

आदेश गुप्ता ने उपराज्यपाल को लिखे अपने पत्र में कहा कि बसों की खरीद दो कंपनियों से की गई है। इतना ही नहीं जिन कंपनियों से खरीद की गई है उनसे बसों की वारंटी समय के दौरान देखभाल का समझौता किया गया है जिसके लिए 3500 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

गुप्ता ने कहा कि वारंटी समय के दौरान जब सामान की जिम्मेदारी कंपनी की ही रहती है तो ऐसे में अतिरिक्त 3500 करोड़ रुपये का देखभाल समझौता करने की बात तर्क से परे है। उन्होंने कहा कि बसों की खरीद पर 875 करोड़ रुपये खर्च किये जा रहे हैं और उनके देखभाल के लिए 3 वर्षों में 3500 करोड़ रुपये खर्च करने का अनुबंध अपने आप में एक बड़े घोटाले का सबूत है। श्री गुप्ता ने उपराज्यपाल से इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कर जांच का काम भ्रष्टाचार विरोधी शाखा को सौंपने की मांग की है।
Copyright @ 2019.