राष्ट्रीय (13/10/2021) 
पिछले 15 वर्षो से सफाई कर्मचारियों का शोषण कर रही है भाजपा की एमसीडी

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता व एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि भाजपा वर्ष 2003 तक नियुक्त 200 कर्मचारियों को नियमित करने की बात कर रही है। जबकी पहले ही हजारों सफाई कर्मचारी नियमित होने का इंतजार कर रहे हैं। भाजपा ने निगम के सफाई कर्मचारियों से आजतक जितने भी वादे किए हैं, जितनी भी याजनाओं का जिक्र किया है, उनमें से एक भी लागू नहीं किया है। दुर्गेश पाठक ने कहा, जिन सफाई कर्मचारियों ने दम तोड़ दिया उनके आश्रित स्थायी नौकरी मिलने का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन उनका इंतजार अभी तक खत्म नहीं हुआ है।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता व एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने मंगलवार को बयान जारी किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली नगर निगम में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पिछले 15 वर्षो से सफाई कर्मचारियों का शोषण कर रही है। उन्हें वेतन नहीं देती है, उनके हक की योजनाओं से उन्हें वंचित रखती है, झूठे वादे करती है। यहां तक कि वह अपने कर्मचारियों को यह कहकर निकाल देती है कि ‘अब हमें आपकी जरूरत नहीं है’। तो भाजपा अपने राज में कुछ इस प्रकार कर्मचारियों को तिल-तिल मार रही है, उनके जज़बातों के साथ खेल रही है। 

उन्होंने कहा, अब भाजपा कह रही है कि वर्ष 2003 तक नियुक्त 200 कर्मचारियों को भाजपा नियमित करने जा रही है। जबकी वर्ष 2003 तक दिहाड़ी पर काम करने वाले कई हजार सफाई कर्मचारी पिछले 20 सालों से नियमित होने का इंतजार कर रहे हैं। तो जब हजारों कर्मचारी पहले ही कतार में हैं तो भाजपा सिर्फ 200 कर्मचारियों को नियमित करने की बात क्यों कर रही है? बाकी हजारों कर्मचारियों का क्या? मुझे तो लगता है कि सफाई कर्मचारियों को गुमराह करने के लिए भाजपा की यह एक नई चाल है। क्योंकि भाजपा सिर्फ लोगों को ठगना और गुमराह करना ही जानती है। 

एमसीडी प्रभारी ने कहा, भाजपा नेताओं ने बार-बार अपने निगम के 2017 के चुनावी संकल्प-पत्र में, बजट भाषणों में और प्रेस वार्ताओं में सफाई कर्मचारियों के कल्याण की घोषणाएं की हैं। लेकिन उनमें से एक भी लागू नहीं की हैं। सफाई कर्मचारियों को कैशलेस स्वास्थ्य योजना लागू करने की, उनको वर्दी और सफाई के आधुनिक उपकरण मुहैया कराने की, प्रत्येक वार्ड में उनके लिए रेस्ट-रूम स्थापित करने की, मुफ्त स्वास्थ्य बीमा इत्यादि अनेकों योजनाओं की घोषणाएं की हैं। लेकिन अभी तक एक भी घोषणा लागू नहीं की है। सफाई कर्मचारियों के कई सालों से सेवानिवृत्ति लाभांश, सातवें वेतन आयोग की सिफारिश को लागू करना, डी.ए बोनस तथा कई प्रकार के बकाया एरियल का भुगतान नहीं हुआ है। पिछले 15 सालों में कई हजार सफाई कर्मचारी सेवानिवृत्ति हो गए हैं लेकिन उनके स्थान पर एक भी सफाई कर्मचारी की गई नियुक्ति नहीं हुई है। जिसके कारण बचे हुए कर्मचारियों के कंधों पर सफाई का अतिरिक्त भार आ पड़ा है। 

आप नेता ने कहा, जिन सफाई कर्मचारियों ने दम तोड़ दिया उनके आश्रित स्थायी नौकरी मिलने का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन उनका इंतजार अभी तक खत्म नहीं हुआ है। भाजपा नेता, निगम चुनाव 2022 के नजदीक आने पर सफाई कर्मचारियों को झूठे आश्वासन देकर भरमा रहे हैं। जबकि इससे पहले भी कई बार झूठे आश्वासन देकर उनकी हड़तालें बंद कराई गई हैं। भाजपा नेता सफाई कर्मचारियों की मांगे न पूरी करने के लिए निगम की खराब आर्थिक स्थिति का हवाला देते हैं। जबकि उनके पास विज्ञापन माफिया और पार्किंग माफियाओं को करोड़ों रुपयों का टैक्स माफ करने के लिए पैसे हैं।

दिल्ली नगर निगम को चेतावनी देते हुए दुर्गेश पाठक ने कहा, पिछले 15 सालों से भारतीय जनता पार्टी सफाई कर्मचारियों से झूठ बोलती आ रही है। उनका शोषण करती आ रही है। नौकरी पक्का करने के नाम पर उनको बेइज्जत किया जाता है। उनसे झूठे वादे किए जाते हैं। आम आदमी पार्टी इसका विरोध करती है। पिछले कई महीनों से उन्हें तनख्वाह नहीं मिली है। आम आदमी पार्टी ने जब संघर्ष किया, तब जाकर उनको तनख्वाह दी गई। तो मैं भाजपा कहना चाहता हूं कि अपने कर्मचारियों का और कितना शोषण करेंगे। जनता से न सही भगवान से तो डरिए। अब तो जनता और अपने कर्मचारियों को ठगना बंद कर दीजिए। आगामी चुनाव में वैसे ही आपको जनता बाहर करने वाली है, कम से कम जो 6-7 महीनों का वक्त बचा है उसी में कुछ अच्छे काम कर लीजिए क्योंकि अब जनता ‘आप’ सरकार को मौका देना चाहती है। जनता समझ चुकी है कि दिल्ली के साथ-साथ यदि एमसीडी में भी अरविंद केजरीवाल की सरकार होगी, तो दुगनी रफ्तार से दिल्ली का विकास होगा और दिल्ली वालों का कल्याण होगा।


Copyright @ 2019.