खेल (24/10/2021) 
क्रिकेटर हूं क्रिकेटरों को इज्जत देगें: सिद्वार्थ साहिब सिंह वर्मा।
नई दिल्ली, 24 अक्टूबर। मैं एक क्रिकेटर हूं और क्रिकेटरों को कैसे इज्जत दी जानी चाहिए उसे हम देंगे, अभी तक डीडीसीए में क्रिकेटरों को केवल और केवल इस्तेमाल किया जाता रहा है। हम पुरूष और महिला क्रिकेटरों को एक सम्मान दिलायेंगे। यह वादा डीडीसीए चुनावों में सेकेट्ररी पद के उम्मीदवार पूर्व रणजी खिलाड़ी सिद्धार्थ साहिब सिंह ने एक प्रैस वार्ता के दौरान किया।  
उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में कहा अगर वह इस बार चुनाव जीते तो तीन साल में क्रिकेट, क्रिकेटर और डीडीसीए के 4 हजार सदस्यों के लिए ऐसा काम कर जाएंगे कि उनको उनपर गर्व होगा। इसलिए सदस्यों और क्रिकेटरों से मिल रहे सुझावों को उन्होंने प्राथमिकता देने का फैसला किया है। 
स‌ाहिब सिंह ने कहा कि वह डीडीसीए में दो ग्रुपो से अलग चुनाव मैदान में उतरे हैं। वह इस चुनाव में सेकेट्ररी पद के लिए लड़ने वाले इकलौते ऐसे सदस्य हैं जो क्रिकेटर रहे हैं। जबकि अन्य दोनों ही ग्रुपो में क्रिकेटर गायब है। उन्होंने कहा वह डीडीसीए की पर‌िस्थितियों के बारे में सब कुछ जानते है। इससे पहले भी वह निदेशक पद पर रहकर दिल्ली की क्रिकेट के लि‌ए काफी काम कर चुुके हैं। इस दौरान दिल्ली के प्रतिभाशाली खिलाडियों के साथ होने वाले  खिलवाड़ को भी चुनावों में उठाया तथा कहा वह इसलिए भी चुनाव मैदान में उतरे है। उन्होंने कहा कि उनकी प्राथमिकता में क्रिकेट और क्रिकेटर ही पहले हैं इसके चलते ही उन्हें 90 फीसदी क्रिकेटर्स और सदस्य सपोर्ट कर रहे हैं। 
उन्होंने बताया कि उन्होंने अपने एजेंडे में डीडीसीए को अंतरराष्ट्रीय ख्याति‌ प्राप्त क्लब बनाना, खिलाडियों का उचित व योग्यता के अनुसार चयन, क्लब क्रिकेट को पुनः स्थापित करना, क्षेत्रीय सेंटर ऑफ एकसीलेंस का गठन करना और सदस्यों के सुझावों के तहत लड़के-लड़‌की दोनों क्रिकेट टीम को बराबर सुविधाएं व अवसर देना एवं रिटायर्ड क्रिकेट खिलाडियों के पेंशन प्रस्ताव को पहली ही बैठक में रखने को तथा उसको  पास कराना ही प्राथमिकता है।  
इस दौरान उन्होंने अपने सामने सचिव पद पर खडे े विनोद तिहारा और राकेश बंसल पर आरोप लगाए हैं कि‌ उनके ऊपर कई तरह के केस चल रहे हैं, लेकिन फिर भी वह चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे लोगों को चुनाव लड़ने का मौका नहीं देना चाहिए। हालांकि चुनाव अधिकारी इस मामले को देख रहें हैं। उन्होंने बताया कि वह कोई पैनल नहीं, बल्कि इमानदार लोगों के लिए ईमानदारी के साथ मैदान पर उतरें है। उनके पांच सदस्य अन्य चुनाव लडने वालों पर भारी पडेंगे, ऐसी वह उम्मीद लगाए है। उन्होंने बताया कि उनके अलावा उनके साथ पूर्व क्रिकेेटर गुरप्रीत सरीन जोकि डीडीसीए के पूर्व सचिव एसएस सरीन के बेटे है, पूर्व डारेक्टर सूर्य प्रकाश के अलावा अजय शर्मा, श्याम कुमार शामिल है।
सिद्वार्थ साहिब वर्मा ने डीडीसीए के सभी सदस्यों से क्लब की बेहतरी और क्रिकेट को आगे बढाने वालों को वोट करने की गुजारिश की है। ताकि डीडीसीए की गि‌रती साख को दोबारा बनाया जा सके। 
दिल्ली से विजय कुमार की रिपोर्ट
Copyright @ 2019.