विशेष (29/04/2022) 
अरविंद सरकार की लापरवाही चलते, कोविड -19 मामलों में वृद्धि , लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है।- चौ0 अनिल कुमार
अरविंद सरकार मुफ्त बूस्टर डोज वैक्सीनेशन के लिए पर्याप्त वैक्सीनेशन सेंटर खोले, ताकि सभी दिल्लीवालां को वैक्सीनेशन मिल सके। - चौ0 अनिल कुमार

वीरवार को दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि, मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार की दिल्ली के प्रति बेरुखी और लापरवाही के कारण पिछले एक सप्ताह से लगातार कोविड-19 संक्रमण के 1000 से भी अधिक पाजिटिव मामले सामने आ रहे है , जबकि दिल्ली में कल पाजिटिव संक्रमितों की संख्या 1367 रही। उन्होंने कहा कि, केजरीवाल सरकार यह जानते हुए कि दिल्ली में सरकारी आंकड़ो के अनुसार कोविड संक्रमण से 26170 लोग जान गंवा चुके ही, उससे कोई सबक नही लेते हुए कोविड संक्रमण के लगातार बढ़ते मरीजों के प्रति कोई संवेदनशीलता दिखाई नही दे रही है।


चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि, दिल्ली के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री दिल्ली में कोविड पर नजर रखने की बजाय पंजाब सरकार चलाने के लिए नई-नई योजनाओं को दिल्ली सरकार से साझा करके नौटंकी कर रही है। उन्होंने कहा कि राजधानी में 11 अप्रैल को कोविड एक्टिव संक्रमितां की संख्या 601 थी जो अब बढ़कर 4832 हो गई है। उन्होंने कहा कि, दिल्ली सरकार कोविड के निशा निर्देशां का पालन करने के लिए जागरुकता अभियान चलाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की वास्तविक स्थिति जानने के लिए सरकार को टेस्ट बढ़ाने की जरुरत है, क्योंकि अधिक टेस्ट होने जल्द संक्रमण दर की जानकारी मिल सकेगी।


चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार ने निशुल्क कोविड वैक्सीनेशन सेन्टरों की सख्यां घटा दी है जिसके कारण दिल्लीवासियों को कोविड की बूस्टर डोज लेने के लिए लम्बी-लम्बी लाईनों में लगना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार वैक्सीनेशन सेंटर पर बूस्टर डोज व पहली और दूसरी कोविड वैक्सीन पर्याप्त में रखें क्योंकि लोगों को वैक्सीन नही मिलने के कारण सरकार के रवैये से निराशा हो रही है।


चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि कोविड महामारी के बाद महंगाई की मार झेल रही, दिल्ली की गरीब जनता केजरीवाल सरकार की कोविड मामलों में बढ़ोत्तरी पर असंवेदनशीलता से चिंतित है, क्योंकि बढ़ते कोविड मामलों के कारण लोगों को अपनी अजीविका चलाने का भय सता रहा है कि कहीं फिर से सब कुछ बंद तो नही हो जाएगा। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार की लापरवाही के कारण दिल्ली व्यापारी भी डरा हुआ है और उन्होंने कोविड नियमों का पालन करना शुरु कर दिया है।


चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि, मुख्यमंत्री केजरीवाल को बढ़ते कोविड संक्रमण से दिल्लीवालों को बचाने के लिए रोड़मेप तैयार करें, सिर्फ एन्फोर्समेंट टीमों के गठन से काम चलने वाला नही है। कोविड प्रोटोकॉल के नियमों के पालन करवाने के लिए, महंगाई में लोगों के चालान काटने की जगह लोगों को जागरुक करना चाहिए और भीड़भाड़ वाले  क्षेत्रों  पर नियंत्रण करने की व्यवस्था भी बनाई जाऐ।  उन्होंने कहा कि, कोविड महामारी की बिगड़ने की स्थिति में दिल्ली सरकार अपने अस्पतालों में बेड, आईसीयू, ऑक्सीजन व दवाओं को सुनिश्चित करे ताकि प्रभावित दिल्लीवालों को परेशानियों का सामना न करना पड़े।

Copyright @ 2019.