राष्ट्रीय (12/01/2022) 
दिल्ली सरकार सभी ऐतिहासित इमारतों की देखरेख भी करेगी और दिल्ली में पर्यटन भी बढ़ाएगी- आतिशी

नई दिल्ली, 12 जनवरी, 2022

‘आप’ विधायक आतिशी ने कहा कि भाजपा शासित साउथ एमसीडी प्राइवेट माफियाओं को बेच रही दिल्ली की ऐतिहासिक इमारतें। भाजपा के भ्रष्टाचार ने सभी हदें पार कर दी हैं, पहले दिल्ली के स्कूल बेचकर बच्चों का भविष्य बेच दिया और अब हेरिटेज बिल्डिंग्स बेचकर दिल्ली का इतिहास बेच रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा शासित एमसीडी से दिल्ली की विरासत नहीं संभल रही है तो वह उन्हें दिल्ली सरकार को सौंप दे। दिल्ली सरकार सभी ऐतिहासित इमारतों की देखरेख भी करेगी और दिल्ली में पर्यटन भी बढ़ाएगी। भाजपा नेताओं को पैसे की ऐसी भूख है कि अप्रैल चुनाव से पहले वह एमसीडी की सभी संपत्तियों को बेच देना चाहते हैं। वहीं साउथ एमसीडी के एलओपी प्रेम चौहान ने कहा कि भाजपा ने भ्रष्टाचार से भी घिनोना काम किया है। लेकिन हम दिल्ली के इतिहास को बिकने नहीं देंगे।

आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और विधायक आतिशी ने बुधवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित किया। आतिशी ने कहा कि पिछले 15 सालों से एमसीडी में भाजपा की सरकार है। पिछले 15 सालों में एमसीडी में भाजपा का भ्रष्टाचार चरम पर है। आप दिल्ली के किसी भी हिस्से में जाइए, किसी भी आम इंसान से बात कीजिए, वह आपको बता देंगे कि एमसीडी में कितना भ्रष्टाचार है, भाजपा के पार्षद कितनी उगाही करते हैं। दिल्ली वाले एक सुर में यह कहते हैं कि हमें भाजपा को एमसीडी से निकाल बाहर करना है। जिस प्रकार से अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में काम किया है, वैसे ही आम आदमी पार्टी को एमसीडी में लाना है। लेकिन आज जब भाजपा को पता चल गया है कि उनका भ्रष्टाचार का काल खत्म होने वाला है, जब दिल्ली की जनता एमसीडी से उन्हें निकाल बाहर करने वाली है तो आखरी कुछ महीनों में उनके भ्रष्टाचार ने सभी हदे पार कर दी हैं।

हम रोज़ देखते हैं कि इनके भ्रष्टाचार का एक नया मसला निकलकर आता है। सिर्फ इतना ही नहीं, अब तो यह हाल हो गया है कि अपनी जेब भरने के लिए यह एमसीडी में शासित भाजपा ने एक-एक करके एमसीडी की सभी संपत्तियों को औने-पौने दामों पर बेचना शुरू कर दिया। आम आदमी पार्टी ने बार-बार यह मुद्दा उठाया है। इसमें से कई उदाहरण ऐसे हैं कि नॉवेल्टी सिनेमा को ऐसे ही औने-पौने दामों पर बेच दिया। शालीमार बाग की एक पार्किंग को बेच दिया। टाउनहॉल मॉल, संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में 132 प्लॉट्स, नानीवाला बाग कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स, 13 मल्टीलेवल पार्किंग आदि कई संपत्तियों को इन्होंने बेच दिया। 

हमने शालीमार बाग का मुद्दा उठाया जहां पर पार्किंग तो छोड़िए, खाली ज़मीन तो छोड़िए, कॉमर्शियल इमारत तो छोड़िए, यहां तक कि शालीमार के एक स्कूल को बेच डाला। अपने बच्चों के भविष्य को बेच डाला। भाजपा ने एक स्कूल को पार्किंग बनाने के लिए प्राइवेट कंपनी को मार्केट रेट से कम रेट पर बेच डाला। लेकिन भाजपा का भ्रष्टाचार, एमसीडी में भाजपा के नेताओं और पार्षदों की जो पैसे की भूख है कि पार्किंग बेचने के बाद, बच्चों का भविष्य बेचने के बाद आज एमसीडी दिल्ली का इतिहास भी बेचना चाह रही है।

साउथ एमसीडी ने अपनी आगामी स्टैंडिंग कमिटी की बैठक में एक एजेंडा रखा है कि दिल्ली की हेरिटेज बिल्डिंग्स को अब वह प्राइवेट कंपनियों को बेच देंगे, लीज पर दे देंगे। उनका यह कहना है कि देखिए न तो हमें दिल्ली के बच्चों का भविष्य चाहिए, न तो हमें स्कूल चाहिए और न ही दिल्ली का इतिहास चाहिए। हम दिल्ली की विरासत को नहीं संभाल सकते हैं, उसकी देखरेख नहीं कर सकते हैं। भाजपा आज दिल्ली के इतिहास को भी औने-पौने दामों पर बेच रही है, उन्हें लीज पर दे रही है। मेहरोली में 280 वर्ग मीटर की एक हेरिटेज बिल्डिंग है। इस बिल्डिंग की नीलामी साउथ एमसीडी की आगामी स्टैंडिंग कमिटी के एजेंडा में आ गया है।

देखिए एक चीज़ होता है भ्रष्टाचार, दिल्ली की जनता से पैसे ले रहे हैं, उगाही कर रहे हैं। यह भ्रष्टाचार भाजपा पिछले 15 सालों से करती आई है। लेकिन अब तो ऐसा लगता है कि भाजपा ने सोच लिया है कि अप्रैल से पहले एमसीडी की हर संपत्ति को बेच डालो, हमारे बच्चों के भविष्य को बेच डालो, दिल्ली के इतिहास को बेच डालो। यह है एमसीडी की सच्चाई। हम एमसीडी से यह कहना चाहते हैं कि अगर आप दिल्ली की विरासत को नहीं संभाल सकते हैं तो आप उसे दिल्ली सरकार को दे दीजिए। दिल्ली सरकार का आर्कियोलॉजी विभाग इन इमारतों की देखरेख भी करेगा और उनसे दिल्ली में पर्यटन भी बढ़ाएगा। यह दिल्ली सरकार करके दिखाएगी क्योंकि दिल्ली सरकार में दिल्ली के इतिहास को बचाने की नियत है। भाजपा की क्या नियत है कि एक-एक करके सभी चीजों को बेच डालो और अपनी जेबे भरते रहो।

हम भाजपा से कहना चाहते हैं कि अगर आपसे दिल्ली का इतिहास, दिल्ली की ऐतिहासिक इमारतें नहीं संभल रही हैं तो आप उन्हें दिल्ली सरकार को दे दीजिए। यह दिल्ली का इतिहास है, दिल्ली की पहचान है। दिल्ली के किसी भी हिस्से में जाइए, आपको कोई न कोई हेरिटेज साइट मिल जाएगी, जो दिल्ली शहर को पहचान देती है। आज भाजपा हमारे शहर की पहचान को बेचना चाहती है। यह बहुत शर्म की बात है। दिल्ली सरकार इन सभी हेरिटेज साइट्स को चलाएगी, इनकी देखरेख करेगी और इनसे दिल्ली में पर्यटन भी बढ़ाएगी।

साउथ एमसीडी के नेता प्रतिपक्ष प्रेम चौहान ने कहा कि भाजपा यह जो प्रस्ताव लेके आई है, इन्होंने पहले भी एकबार कोशिश की थी। उस समय भी आम आदमी पार्टी ने पुर्जोर तरीके से उसका विरोध किया था। इसबार भी हम चुप नहीं बैठेंगे। भाजपा के भ्रष्टाचार के मामले तो आप लगातार देख ही रहे हैं, उसपर हम आवाज़ उठा ही रहे हैं और दिल्ली की जनता देख भी रही है। लेकिन अबतो हद पार हो गई है, भ्रष्टाचार से भी घिनोना काम भाजपा कर बैठी है। वह दिल्ली के इतिहास को बेच रही है। आम आदमी पार्टी हर प्रकार से इसका विरोध करेगी और दिल्ली के इतिहास को बिकने नहीं देगी।

Copyright @ 2019.