07/09/2016    कश्मीर मुद्दे पर हुई सर्वदलीय बैठक, में जितेंद्र सिंह ने देश की सुरक्षा से कोई भी समझौता कराने से किया साफ इंकार
कश्मीर को लेकर बुधवार को दिल्ली में ऑल पार्टी मीटिंग हुई, लेकिन इस बैठक में कोई ठोस नतीजा नहीं निकला. गृह मंत्रालय ने बैठक में ऑल पार्टी डेलीगेशन में शामिल नेताओं के सुझावों को लेकर एक प्रेजेंटेशन भी दिया.

गृह मंत्रालय की प्रेजेंटशन में कश्मीर के वर्तमान हालात को लेकर अलग-अलग पार्टियों का नजरिया बताया गया. इसमें सिविलयन एरिया में सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम (अफ्स्पा) की समीक्षा भी बात उठी और कुछ पार्टियों ने कश्मीर में अर्धसैनिक बलों और सैनिकों की संख्या घटाने का सुझाव दिया. कुछ पार्टियों का ये भी मानना है कि महबूबा मुफ्ती की कश्मीर हिंसा से निपटने में नाकाम रही.
प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि बैठक में इस बात पर सभी पार्टियों ने सहमति जताई की सुरक्षा पर कोई समझौता नहीं होगा. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय संप्रभुता पर कोई समझौता नहीं होगा. सभी पार्टियों ने लोगों से ये अपील भी की है कि वो हिंसा के रास्ते पर न चले. जितेंद्र सिंह ने कहा कि हम सभी पक्षों से बात करने को तैयार हैं.
ऑल पार्टी मीटिंग से पहले घाटी को लेकर आगे की रणनीति पर चर्चा करने के लिए राजनाथ सिंह आर्मी चीफ दलबीर सिंह से भी मिले.
देवेंद्र कुमार समाचार वार्ता


Click here for more interviews
Copyright @ 2017.