06/04/2018    खटिक सेना ने सांसद मार्ग पर प्रदर्शन किया
नई दिल्ली, आज संजय राज खटिक के नेतृत्व में सांसद मार्ग, नई दिल्ली पर अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम -1989 को पूर्व की भांति पुनः लागू करने के लिए खटीक सेना ने सांसद मार्ग पर प्रदर्शन किया, जिसमे खटीक सेना के हजारों साथियों ने भाग लिया और उसके उपरांत माननीय प्रधान मंत्री और माननीय राष्ट्रपति महोदय को इस सम्बन्ध में ज्ञापन सौंपा गया |

जय राज जी ने प्रदर्शन को संबोधित करते हुए कहा कि पूरे भारत में जातीय आधार पर एससी/एसटी वर्ग के गरीब, लाचार व कमजोर लोगों के ऊपर मनुवादी सोंच के लोग सदैव अत्याचार करते आये हैं और यह सिलसिला अब भी बड़े पैमाने पर जारी है | जातीय आधार पर किये जा रहे अत्याचार की रोकथाम के लिए अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम लागू किया था | उपरोक्त एक्ट लागू होने के बावजूद भी सच्चाई यह है कि इन वर्गों के ऊपर जातीय आधार पर मनुवादियों द्वारा जब जुल्म  और अत्याचार किया जाता है तो अधिकांश मामलो में कोई विरोध नही कर पाता है, जिससे भयभीत होकर इस वर्ग का पीड़ित व्यक्ति अत्याचार सहकर भी चुप-चाप घर में बैठ जाता है | यदि हिम्मत करके कोई पुलिस थाने में रिपोर्ट करने चला जाता है तो साधारणतयः उसकी रिपोर्ट नही लिखी जाती है बल्कि उसे डरा-धमका कर भगा दिया जाता है | यदि रिपोर्ट दर्ज भी कर ली जाती है तो अधिकारियों द्वारा निष्पक्ष जांच न करके फाइनल रिपोर्ट लगाकर मामला रफा-दफा कर दिया जाता है | यदि किन्ही गंभीर मामलों में अदालत में अपराधियों के खिलाफ चार्ज शीट दाखिल कर दी जाती है तो मुक़दमे के गवाहों को डरा धमका कर तोड़ दिया जाता है या मार दिया जाता है, धन-बल, बाहु बल और राजनैतिक बल के आधार पर पक्षपात के माध्यम से अपराधी बाइज्जत बरी हो जाते है | इस प्रकार एस सी-एस टी वर्ग के लोगों द्वारा इस एक्ट का दुरुपयोग नहीं हो रहा है, बल्कि यह एक्ट निष्पक्ष एवं प्रभावी रूप से अधिकारियों द्वारा लागू न हो पाने के कारण अधिकांश मुकदमों में अपराधियों को पर्याप्त सजा नहीं मिल पाती | परिणामतः इन वर्गों के ऊपर जातीय आधार पर अत्याचार निरंतर जारी है |

हमारी मांग है कि एस सी एस टी एक्ट 1989 को पूर्व की भांति पुनः लागू हो,  एस सी –एस टी मामले की सुनवाई के लिए हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट ने अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग  के न्यायधीशों की नियुक्ति की जाये | दूसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट द्वारा हाल ही में दिए गये निर्णय के अनुसार इन वर्गों के पीड़ित व्यक्ति की एससी/ एसटी एक्ट में तत्काल रिपोर्ट दर्ज न करने अपराधी को अग्रिम जमानत का लाभ देने और अपराधी की गिरफ़्तारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की अनुमति से करने के आदेश पारित करने से यह एक्ट निष्प्रभावी हो गया है, जिससे संकुचित मानसिकता के लोग निरंकुश होकर, इस वर्ग के लोगों पर अत्याचार करने से बाज नही आयेंगे |

प्रदर्शन को श्री संजय राज के अलावा जिन प्रमुख लोगो ने संबोधित किया उनमे प्रमुख हैं – इन्द्रेश चन्द्र खटीक, राष्ट्रीय महासचिव, राम कुमार खटीक राष्ट्रीय संगठन मंत्री, ओमकार खटीक राष्ट्रीय सचिव, किरण तितोरिया राष्ट्रीय कोर कमेटी सदस्य, भूपेंदर किरार खटीक राष्ट्रीय कोर कमेटी सदस्य, मनीराम नागौरा खटीक दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष , अमर सिंह भल्ला खटीक , उपाध्यक्ष दिल्ली प्रदेश , सुशील खटीक संगठन मंत्री दिल्ली |

Click here for more interviews
Copyright @ 2017.