22/05/2015  विपणन यार्डों के निर्माण की आवश्यकता पर बल-वीरभद्र सिंह
मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने प्रदेश में किसानों एवं बागवानों की सुविधा और उनकी उपज की समुचित लाभ के साथ बिक्री सुनिश्चित बनाने के लिए सब्जी एवं फल मण्डियों के निर्माण की आवश्यकता पर बल दिया। मुख्यमंत्री शिमला के समीप भट्टाकुफर में 8.5 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले विपणन यार्ड का शिलान्यास करने के उपरांत जनसभा को संबोधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के किसानों के सामाजिक व आर्थिक विकास और उन्हें बिचैलियों के शोषण से बचाने तथा कृषि उपज की खरीद-फरोख्त, भण्डारण व विधायन के लिए और अधिक विपणन यार्डों का निर्माण आवश्यक है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार इन विपणन यार्डों में काम कर रहे लोगों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में जहां-जहां विपणन यार्ड हैं, वहां श्रमिक होस्टलों के निर्माण का मामला उठाएगी। उन्होंने कहा कि भट्टाकुफर विपणन यार्ड में एक श्रमिक होस्टल की आवश्यकता है और उन्होंने एपीएमसी से या तो इसे स्वयं बनाने अथवा श्रम विभाग से मामला उठाने के लिए कहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार मौजूदा विपणन यार्डों के सुदृढ़ीकरण तथा नए यार्डों के निर्माण को प्राथमिकता दे रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा विपणन यार्डों के विकास के लिए विपणन बोर्ड को 10 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया गया है।
वीरभद्र सिंह ने प्रदेश में फलों और सब्जियों की अतिरिक्त पैदावार के विपणन के लिए एपीएमसी के प्रयासों की सराहना की।
मुख्यमंत्री ने आईजीएमसी फेज़-2 स्थल और राजकीय माध्यमिक स्कूल भट्टाकुफर के निर्माण कार्य का निरीक्षण भी किया।
इससे पूर्व, एपीएमसी के अध्यक्ष सुभाष मंगलेट और एपीएमसी शिमला एवं किन्नौर के अध्यक्ष महेन्द्र स्तान ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। उन्होंने विपणन बोर्ड की गतिविधियों का विस्तृत ब्यौरा देने के साथ-साथ भविष्य की योजनाओं के बारे में भी अवगत करवाया।
कारोबारी संघ ढली के प्रधान निहार सिंह चैधरी ने मुख्यमंत्री को सम्मानित किया।
विधायक अनिरूद्ध सिंह, विपणन बोर्ड के सलाहकार देवेन्द्र श्याम, नगर निगम शिमला के महापौर संजय चैहान, जिला कांग्रेस समिति ग्रामीण के अध्यक्ष केहर सिंह खाची, हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के उपाध्यक्ष हरीश जनारथा, एपीएमसी सोलन के अध्यक्ष रमेश ठाकुर, उपायुक्त शिमला दिनेश मल्होत्रा, एपीएमसी के प्रबन्ध निदेशक एचएस बावेजा सहित अन्य लोग भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
Copyright @ 2017.