दिल्ली, DELHI हरियाणा , HARYANA पंजाब, PUNJAB चंडीगढ़, CHANDIGARH हिमाचल HIMACHAL राजस्थान, RAJASTHAN अंर्तराष्ट्रीय INTERNATIONAL उत्तराखण्ड, UTTRAKHAND महाराष्ट्र , MAHARASHTRA मध्य प्रदेश MADHYA PRADESH गुजरात GUJRAT नेशनल, NATIONAL छत्तीसगढ CG उत्तर प्रदेश UTTAR PRADESH बिहार, BIHAR Hacked BY MSTL3N Hacker # ~
Breaking News
दिल्ली गुजरात विस्फोट का आतंकी अब्दुल कुरैशी गिरफ्तार, टली बड़ी साजिश   |  युवाओं के लिये घातक और जानलेवा है स्टेरॉयड्स : अरूण    |   क्राइम ब्रांच ने हथियार सप्लाई करने वाले तीन तस्करों को किया गिरफ्तार   |   सुप्रीम कोर्ट को नहीं बचाया गया तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा: जस्टिस चलेमेश्वर   |   सुषमा स्वराज ने हवाई अडडे पर की एक मां की मदद , बेटे के शव के साथ फंसी थी    |  तीन तलाक विधेयक को जमात ने महिला अधिकारों के खिलाफ बताया ।   |  आधार मुद्दे पर रिपोर्टर को अवार्ड मिले : स्नोडन   |  पिछले तीन-चार वर्षों में भारत के प्रति बदला है दुनिया का नजरिया : मोदी   |  सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाना स्वैच्छिक है: उच्चतम न्यायालय   |  शत्रुघ्न सिन्हा के आवास पर बीएमसी की गाज , अवैध विस्तार को गिराया   |  
दिल्ली की राजौरी गार्डन विधानसभा सीट पर उपचुनाव का परिणाम। सभी पाठकों को डॉ भीम राव अम्बेडकर जयंती की हार्दिक शुभकामनाएँ।Hackd MsTl3n MCD चुनाव के पहले रुझान में बीजेपी आगे।नगर निगम चुनाव के पहले रुझान में कांग्रेस ने आप को पछाडा।
09/03/2016  
उत्तराखंड के हिस्ट्रीशीटरों के बन गए शस्त्र लाइसेंस, आखिर जाँच के नाम के नाम पर हुई खानापूर्ति , उच्च अधिकारी भी जाँच के दायरे में
 
 

रुद्रपुर - एक तरफ जिले के कप्तान केवल खुराना शोकियो का शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने की कार्यवाही कर रहे है वही दूसरी और उनके सामने एक और चुनौती खड़ी होती दिख रही है जी हाँ आपको बता दे की उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जनपद के कई थानो और कोतवालियो के टॉपटेन हिस्ट्रीशीटरों के भी शस्त्र लाइसेंस बना दिए गए - अपराधिक मुकदमा दर्ज़ होने पर शस्त्र लाइसेंस की रिपोर्ट  में पुलिस के अधिकारियो द्वारा जाँच कर अपराधिक मामला दर्ज़ न होने की रिपोर्ट लगाईं गई है जिसमे पुलिस के चौकी प्रभारियों ,थानाध्यक्ष शामिल है इतना ही नहीं इस शस्त्र आवेदन में डीसीआरबी की रिपोर्ट भी लगाईं जाती है जिसमे के सभी थानो और कोतवालियो में आवेदनकर्ता के ऊपर मामला जनपद के किसी भी थाने और कोतवाली में मामला दर्ज़ तो नहीं है , कोतवाली थाने और चौकियों में लगे टॉपटेन अपराधियो की सूची बोर्ड में नाम होने के बाद भी अनदेखी करते हुए उत्तराखंड के हिस्ट्रीशीटरों के पक्ष में मित्र पुलिस ने शस्त्र आवेदन में मुकदमा न होने की रिपोर्ट लगा दी 
शस्त्र लाइसेंस भी बना दिए गए।
ऊधमसिंह नगर जनपद के वर्तमान कप्तान के समय में जनपद के हिस्ट्रीशीटरों के शस्त्र लाइसेंसो पर पुलिस महकमे समेत ख़ुफ़िया विभाग ने भी मुकदमा दर्ज़ न होने की मोहर लगा दी, इतना ही नहीं पुलिस महकमे ने जनपद के एक नहीं दो नहीं बल्कि कई ऐसे शस्त्र आवेदनो पर अपनी पॉजिटिव रिपोर्ट लगा दी , जिससे पुलिस महकमे पर सवाल भी खड़े हो रहे है  -- जिस कारण पुलिस महकमे के साथ साथ जिला प्रशासन चुप्पी साधे बता है और जाँच कराने के नाम पर सिर्फ खाना पूर्ति कर रहा है ।
अभी तो सिर्फ बात है उत्तराखंड के एक मात्र जिले उधमसिंह नगर की अगर जाँच कराई जाए तो पुरे प्रदेश में हिस्ट्रीशीटरों के सेकड़ो शस्त्रलाइसेंस बने होने का खुलासा हो सकता है ।
सरकार के साथ कदम से कदम मिलकर चलने वाले कांग्रेसी छुटभैये नेताओ जिनके दामान पर क्राइम के धब्बे लगे है वो भी प्रशासन को अपनी हनक दिखा कर शस्त्र लाइसेंस धडल्ले से बनाने में लगे है।

राजीव चावला
उत्तराखंड
समाचार वार्ता

      Back
 
Copyright @ 2017.