04/01/2018  IAS दीपक आनंद पर कसा शिकंजा, कटिहार से सीतामढ़ी तक रेड, मिली करोड़ों की संपत्ति
(कटिहार) साल 2007 बैच के बिहार के IAS अधिकारी दीपक आनंद पर जांच एजेंसियों का शिकंजा कसता चला जा रहा है. 3 जनवरी को निगरानी और आर्थिक अपराध इकाई की विशेष टीमों ने दीपक आनंद के कई ठिकानों पर एकसाथ रेड की है. IAS दीपक आनंद के सीतामढ़ी स्थित पैतृक आवास से लेकर कटिहार में उनकी पत्नी के आवास तक एजेंसियों ने छापेमारी की है. दीपक आनंद पर पद पर रहते हुए अवैध तरीके से आय से अधिक संपत्ति बनाने का आरोप है. जांच टीमों को अबतक उनके ठिकानों करोड़ों की संपत्ति का हिसाब किताब भी मिला है. दीपक आनंद छपरा के जिलाधिकारी थे. उन्हें मार्च 2017 में पटना के NIT घाट पर हुए नाव हादसे के बाद स्थानांतरित कर पदस्थापन की प्रतीक्षा में भेज दिया गया था. उनपर सारण के बालू माफियाओं से सांठगांठ रखने का आरोप भी लगा था. आनंद इससे पहले बांका और समस्तीपुर के भी जिलाधिकारी रह चुके हैं. उन्होंने बतौर IAS अपने करियर की शुरुआत बेतिया के अनुमंडलाधिकारी के रूप में वर्ष 2008 में की थी.पत्नी के हॉस्टल में रेड विजिलेंस ने कटिहार मेडिकल कॉलेज के पास स्थित एक हॉस्टल में IAS दीपक आनंद की पत्नी की तलाश में छापेमारी की. आनंद की पत्नी शिखा रानी इसी कॉलेज में रेडियोलोजी विभाग में पीजी की स्टूडेंट हैं. टीम को उनका कमरा बंद मिला जिसके बाद कमरे को सील कर दिया गया है. उनकी पत्नी की तलाश भी जारी है. विजिलेंस और आर्थिक अपराध इकाई की विशेष टीम ने आज बुधवार को कई जिलों में IAS दीपक आनंद के खिलाफ कार्रवाई शुरू की. सबसे पहले उनके पटना स्थित ठिकाने को खंगाला गया. IAS दीपक आनंद अभी पटना के सर्किट हाउस के एक कमरे में रहते हैं. मिली जानकारी के अनुसार उनके कमरे से 76 लाख से अधिक के चल-अचल संपत्ति का पता चला है जिसमें 25 लाख रुपये के किसान विकास पत्र, 27.50 लाख के प्रॉपर्टी से संबंधित कागजात और 25 लाख रुपये के स्वर्णाभूषण की खरीद की रसीद मिली है. विभाग के सूत्रों के अनुसार IAS दीपक आनंद के सीतामढ़ी शहर के कोर्ट बाजार स्थित पैतृक आवास पर भी रेड की है. IAS दीपक आनंद तब सुर्खियों में आए थे, जब सारण के डोरीगंज से बालू के उठाव में उनकी बालू माफिया के साथ सांठगांठ की खबरें सामने आई थी. तब डोरीगंज से बालू का उठाव बिना ई-चालान के ही हो रही थी. इसमें सारण के तत्कालीन एसपी भी जांच के घेरे में आ गए. फिलहाल इस मामले की निगरानी जांच चल रही है. .
Copyright @ 2017.