27/08/2018  संविधान जलाना, देश में भाईचारा बिगाड़ने का एक षड़यंत्र है : लक्ष्य

 भारतीय समन्वय संगठन(लक्ष्य) की टीम ने संविधान व् बाबा साहेब डॉ भीम राव अम्बेडकर के अपमान के विरोध में एक आक्रोश प्रदर्शन हरदोई के संडीला गांव मढ़िया काशीपुर में किया | जिसमे गांव के लोगो ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया, लक्ष्य की टीम ने संविधान व् बाबा साहेब के सम्मान में  नारे भी  लगाए |

 

लक्ष्य कमांडर सुनीता राज बौद्ध, प्रीति चौधरी, कंचन राज बौद्ध व् रिया भारती बौद्ध ने दुःख प्रकट करते हुए कहा कि कुछ  लोग देश के संविधान व् बाबा साहेब डॉ भीम राव अम्बेडकर का अपमान  करके अपनी  दूषित मानशिकता का परिस्चय दिया है  और ये लोग देश की अखंडता व् भाईचारे  के लिए घातक है | हमें ऐसे लोगो से  सावधान रहे की जरुरत है |

 

लक्ष्य कमांडर ए. के. आनंद,  शैलेन्द्र कुमार बौद्ध, सुनील बौद्ध व् शैलेन्द्र बौद्ध ने कहा कि इस देशद्रोह की गम्भीर घटना से लोगो में रोष है |  उन्होंने  सरकार से मांग करते हुए कहा कि सरकार इस प्रकार के कड़े कदम उठाये ताकि इन  गम्भीर घटनाओ पर लगाम लग सके |  उन्होंने कहा कि यह देश का ही संविधान है जिसमे सभी नागरिको को बराबरी का हक़ है और किसी भी प्रकार के भेद को क़ानूनी अपराध  माना गया है | उन्होंने  कहा कि बाबा  साहेब डॉ भीम राव अम्बेडकर ने संविधान में सभी को एक नजर से देखा है और उन्होंने देश के उत्थान में अपना सारा जीवन निछावर कर दिया था और कुछ दूषित मानशिकता वाले लोग नहीं चाहता के देश में सभी लोगो को बराबरी मिले तथा वे उस पुरानी ऊंचनीच वाली व्यवस्था में विश्वास रखते | 

 

उन्होंने बहुजन समाज के युवाओ से अपील करते हुए कहा कि वो इन दूषित मानशिकता वाले लोगो की मानशिकता का पर्दाफाश करने के लिए आगे आये ताकि इस प्रकार की घटनाओ का मुहतोड़ जवाब दिया जा सके |

 

लक्ष्य कमांडर उमा भारती,कांति देवी व् अर्चना बौद्ध ने बताया कि जिन लोगो ने यह कृत्य किया है वह मात्र देश में भय उत्पन करना चाहते है | उन्होंने कहा कि समाज को जागरूक होना होगा और इस प्रकार की घटनाये जो देश में भाईचारा बिगाड़ती है, उनका पुरजोर विरोध करना चाहिए क्योकि यह एक गम्भीर घटना है और देश की अखंडता से सम्बंधित है | उन्होंने बहुजन समाज की महिलाओ से भी अपील करते हुए कहा कि वो भी अपने अधिकारों को जाने और समाज के उत्थान में आगे आएं |

 

इस आक्रोश प्रदर्शन में लक्ष्य कमांडर पूजा गौतम, अन्नपूर्णा बौद्ध, माया बौद्ध, बिट्टा देवी बौद्ध, सुमन बौद्ध, सीमा बौद्ध, इन्द्राणी बौद्ध, गीता, ममता, प्रीति, सरिता बौद्ध, फूलती बौद्ध, मंजुलता बौद्ध आदि ने विशेषतौर से हिस्सा लिया |

Copyright @ 2017.