02/11/2018  इस धनतेरस ये काम न करें और भूल से भी ये वस्तु घर न लाएं-ज्योतिषाचार्य मदन गुप्ता सपाटू

नई दिल्ली,[अनमोल कुमार]- धनतेरस पर लोहे की बनी हुईं चीजें घर में नहीं लानी चाहिए अगर आपको लोहे के बर्तन खरीदने हैं तो धनतेरस से एक दिन पहले ही बर्तन खरीद लें, धनतेरस पर बर्तन खरीदने की परंपरा काफी समय से चली आ रही है, स्टील भी लोहा का ही दूसरा रूप है इसलिए कहा जाता है कि स्टील के बर्तन भी धनतेरस के दिन नहीं खरीदने चाहिए, स्टील के बजाए कॉपर या ब्रॉन्ज के बर्तन खरीदे जाने चाहिए. चाकूकैंची व दूसरे धारदार हथियारों को खरीदने से बचना चाहिए.अगर आपको धनतेरस के दिन कार घर लानी है तो उसका भुगतान एक दिन पहले कर लेंधनतेरस के दिन नहीं..नकली ज्वैलरीसिक्के घर में नहीं लाने चाहिए.तेल या तेल के उत्पादों जैसे घीरिफाइंड इत्यादि लाने के लिए मना किया जाता है. दीये जलाने के लिए भी तेल और घी की जरूरत पड़ती है इसलिए ये चीजें पहले से ही खरीद कर रख लें.कांच का संबंध राहु से माना जाता है इसलिए धनतेरस के दिन इसे खरीदने से बचना चाहिए. इस दिन कांच की चीजों का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए.,धनतेरस के एक दिन पहले तोहफे खरीदना और देना शुभ माना जाता है लेकिन धनतेरस के दिन नहीं. किसी को तोहफा देने का मतलब है कि आप अपने घर से रुपए खर्च कर रहे हैं यानी धनतेरस के दिन अपने घर से लक्ष्मी को दूसरी जगह भेजना अशुभ माना जाता है.

वैसे तो धनतेरस के दिन नया सामान खरीदना शुभ माना जाता हैलेकिन मान्‍यताओं के अनुसार इस दिन कुछ चीजों को खरीदने से बचना चाहिए:

मान्‍यताओं के मुताबिक धनतेरस के दिन कांच का सामान नहीं खरीदना चाहिए.

काले रंग को शुभ नहीं माना जाता है. ऐसे में कहा जाता है कि धनतेरस के दिन काले रंग की चीजें नहीं खरीदनी चाहिए.

इस दिन नुकीली चीजें जैसे कि कैंची और चाकू नहीं खरीदना चाहिए.

धनतेरस के दिन क्‍या सावधानियां बरतें?

वैसे तो धनतेरस का दिन बेहद शुभ होता है लेकिन इस दौरान कुछ सावधनियां बरतनी चाहिए:

धनतेरस से पहले घर की साफ-सफाई का काम पूरा कर लें. धनतेरस के दिन स्‍वच्‍छ घर में ही भगवान धन्‍वंतरिमाता लक्ष्‍मी और मां कुबेर का स्‍वागत करें.

धनतेरस के दिन बर्तन खरीदने के बाद घर लाते समय उसे खाली न लाएं और उसमें कुछ मीठा जरूर डालें. अगर बर्तन छोटा हो या गहरा न हो तो उसके साथ मीठा लेकर आएं.

धनतेरस के दिन तिजोरी में अक्षत रखे जाते हैं. ध्‍यान रहे कि अक्षत खंडित न हों यानी कि टूटे हुए अक्षत नहीं रखने चाहिए.

इस दिन उधार लेना या उधार देना सही नहीं माना जाता है. 

 

 

Copyright @ 2017.