राष्ट्रीय (21/04/2019) 
न डरूंगा, न डराने दूंगा -राघव चड्ढा

राघव चड्ढा सोमवार 22 अप्रैल 2019 की सुबह दक्षिणी दिल्ली से आगामी लोकसभा चुनाव के लिए अपना नामांकन करने वाले हैं। एक युवा और शिक्षित प्रत्याशी पाने की ख़ुशी में आम आदमी पार्टी की दक्षिणी दिल्ली इकाई और हज़ारों समर्थकों ने राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह के नेतृत्व में गुंडाराज मुक्ती यात्रा नाम से राघव चड्ढा की नामांकन रैली निकाली। 

विशाल रोड शो की शुरुआत दक्षिणी दिल्ली के एक सिरे पालम में, विधायिका भावना ग़ौर के कार्यालय से हुई और दक्षिणी दिल्ली के दूसरे सिरे तुग़लक़ाबाद तक जोरों शोरों से चली।रोड शो पालम से बिजवासन,मेहरौली, छत्तरपुर, अंबेडकर नगर, संगम विहार, देवली और कालकाजी विधान सभाओं से होते हुए तुग़लक़ाबाद में समाप्त हुई।रोडशो में 11 ,000 से अधिक बाइक्स, 800 गाड़ियों और सैंकड़ो ऑटो व e-rickshaw का काफिला चला| रैली में दिख रहे जन सैलाब और उत्साह को देखते हुए आयोजकों ने तक माना की रैली में अपेक्षा से कई ज़्यादा लोग जुड़े; जिससे आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल जी की लोकप्रियता साफ़ ज़ाहिर होती है| लोगों ने कहा कि ये एक ऐतिहासिक स्तर का रोडशो हुआ जो दिल्ली में पहले कभी देखा नहीं गया| 

दक्षिणी दिल्ली में आयोजित रोड शो में पालम विधायिका भावना गौड़, मेहरौली विधायक नरेश यादव, छतरपुर विधायक करतार सिंह तंवर, अम्बेडकर नगर विधायक अजय दत्त, देवली विधायक प्रकाश जारवाल,  संगम विहार विधायक दिनेश मोहनियां, बदरपुर विधायक नारायण दत्त शर्मा, कालकाजी विधायक अवतार सिंह और तुग़लक़ाबाद विधायक सहीराम पहलवान शामिल हुए। साथ में लाडो सराय वार्ड पार्षद किशनवती, बिजवासन पार्षद नरेन्द्र जट राणा, मदनगीर पार्षद दिनेश कुमार और दक्षिणपूरी पार्षद प्रेम कुमार ने भी समर्थन दिया।

रोड शो में हज़ारों कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने आम आदमी पार्टी की टोपी, झंडे, ग़ुब्बारे और पोस्टर्स का इस्तेमाल कर चुनाव प्रचार किया।देश प्रेम के गीत चलाकर यह रोड शो पूरी दक्षिणी दिल्ली में गुंडाराज के समापन का दूत बन के निकली। रोड शो के दौरान जहाँ जहाँ से भी काफ़िला निकला वहाँ समर्थक भारी मात्रा में जुड़ते गए।रास्ते भर में लोगों ने मालाओं और फूलों से आम आदमी के नेताओं का स्वागत किया।रैली जब गलियों से गुज़री, तो लोगों ने अपने घरों से निकल कर मालाएं पहनाई और कइयों ने अपने घरों की बालकनियों पे खड़े हो कर फूल बरसाएं| बड़े बुज़ुर्गों ने भी राघव चढ़ा को चुनाव में जीत का आशीर्वाद दिया| इसी के साथ राघव रास्ते में आये दादा देव मंदिर, हनुमान मंदिर और छत्तरपुर मंदिर से गुज़रते हुए प्रार्थना करते हुए और आशीर्वाद लेते गए| 

इस मौक़े पर राघव चड्ढा ने कहा, “दक्षिणी दिल्ली में भाजपा नेताओं की गुंडागर्दी और बाहुबल और भय की राजनीति का दबदबा था। दक्षिणी दिल्ली की जनता अपने सांसद के पास अपनी परेशानियाँ ले जाने में भी डरती थी। बदतमीज़ी और अभद्र स्वभाव के चलते लोग भाजपा के नेताओं से बहुत निराश है। 

इनकी गुंडागर्दी का एक उदाहरण हाल ही में उजागर हुआ था जब भाजपा के नेताओं ने अपने पूर्वांचल मोर्चा के जिला प्रकोष्ठ के साथ गाली गलौच और मारपीट कर दक्षिणी दिल्ली की सड़कों पर दौड़ा दौड़ाकर मारा था। इससे भाजपा की पूर्वांचल विरोधी विचारधारा एकदम स्पष्ट सामने आयी और उनका गुंडागर्दी रवैया भी उभरकर निकला।

दक्षिणी दिल्ली की जनता बदलाव चाहती है और चाहती है कि एक ऐसा व्यक्ति संसद में उनकी आवाज़ बनकर जाए जो उनके प्रति जवाबदेह हो, जो उनकी ज़रूरतों को समझें।इस बार प्रत्याशी का स्वभाव और उनका उनकी छवि चुनाव में अहम भूमिका निभाएगी। यह रैली दक्षिणी दिल्ली से बाहुबल भय और गुंडागर्दी की राजनीति को ख़त्म करने के लिए निकाली जा रही है।हमारा दक्षिणी दिल्ली में साफ़ और ईमानदार राजनीति स्थापित करने का उद्देश्य है।”

उन्होंने कहा, "मैं दक्षिणी दिल्ली के गुंडे नेताओं से कहना चाहता हूँ, बहुत समय तक आप लोगों ने दक्षिणी दिल्ली को गुंडागर्दी और खौफ कि राजनीती में धकेले रखा, अब यह न होगा| अब पढ़ा लिखा युवा ईमानदारी से और सभ्यता से दक्षिणी दिल्ली कि राजनीती को सवारेगा| हमारी जनता को डराना और उनसे बदतमीज़ी करना बंद कीजिये| और कान खोल के सुनिए, 'न मैं डरूंगा, न डराने दूंगा' |"

उन्होंने कहा, “भाजपा और कांग्रेस की सरकारों ने दशकों तक दक्षिणी दिल्ली की जनता को मूलभूत सुविधाओं से वंचित रखा। पानी सीवर बिजली जैसी सुविधाओं पर अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी सरकार में बोहोत कार्य किया है जिसमें 90 प्रतिशत घरों में पानी पहुंचाया है जिनमें स्वतंत्रता से लेकर आज तक भी पानी नहीं पहुँचा था।अगर आम आदमी पार्टी से सांसद चुना जाता है तो उनके समर्थन के साथ अरविंद केजरीवाल जी के हाथ और भी मज़बूत होंगे और विकास  का घोड़ा और भी तेज़ी से दौड़ेगा।”

उन्होंने कहा,”माननीय मुख्यमंत्री  दिल्ली वालों के अधिकार के लिए लड़ रहे हैं। अगर सातों सांसद आम आदमी पार्टी के चुने जाते हैं तो दो साल के भीतर दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य का दर्जा लेके रहेंगे जिससे दिल्ली वालों की और भी बेहतर सेवा कर सकेंगे।”

राघव चड्ढा क़रीब 10 महीने पहले आम आदमी पार्टी की दक्षिणी दिल्ली इकाई के प्रभारी नियुक्त किए गए थे। इन 10 महीनों में उन्होंने क्षेत्र के हर गली चुके का दौरा किया और संगठन मज़बूती के लिए परिश्रम किया। उन्होंने जगह-जगह पे निवासियों से मिलकर उनकी परेशानियां हल की और लोगों के साथ संवाद और चर्चा की। राघव चड्ढा के नामांकन रैली में उमड़े जनसैलाब से जनता के मन उनकी प्रति प्यार व लोकप्रियता का अंदाज़ा किया जा सकता है।

Copyright @ 2019.