राष्ट्रीय (27/05/2019) 
देश में मोदी, दिल्ली में भाजपा, तभी बनेगी बात दिल्ली चले मोदी के साथ-मनोज तिवारी

नई दिल्ली, 27 मई। भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष  मनोज तिवारी ने आज नाकामपंथियों पर  कटाक्ष करते हुये कहा कि केजरीवाल नाकामपंथियों के राजा हैं लेकिन फरवरी में एक फिल्म रिलीज होगी  जिसका नाम होगा एक था केजरीवाल। उन्होंने कहा कि देश व लोकतंत्र के सबसे बड़े चुनाव में दिल्ली की जनता ने भाजपा के प्रत्याशियों को सातों सीटों पर विजयी बनाकर यह स्पष्ट कर दिया है कि वह नाकामपंथियों के बहकावें व झूठ-फरेब की राजनीति को दिल्ली से दूर रख, केवल विकास पर आधारित राजनीति को ही दिल्ली में जगह देना चाहती है। नाकामपंथियों ने दिल्ली के विकास को न केवल रोका बल्कि केन्द्र की जनकल्याणकारी योजनाओं को दिल्ली में रोक कर दिल्ली के लोगों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाने की कोशिश भी की है, जिसका जवाब दिल्ली की जनता ने पहले निगम चुनाव और फिर लोकसभा चुनावों में कमल का बटन दबाकर इन नाकामपंथियों को करारा जवाब दिया है। दिल्ली की जनता ने सबका साथ सबका विकास के साथ सबके विश्वास की राजनीति करने वाली विश्व की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक पार्टी है जो दिल्ली की जनता का विश्वास जीतकर नाकामपंथियों से दिल्ली को मुक्त करायेगी।

     तिवारी ने कहा कि इन नाकामपंथियों का मानना है कि निगम के चुनाव छोटे चुनाव होते है और लोकसभा के चुनाव बड़े चुनाव होते है दोनों चुनावों में दिल्ली के लोगों ने इनको सिरे से नकार दिया है और अब दिल्ली की जनता विधानसभा चुनावों में भी सकारात्मक विचारों के साथ भाजपा की सरकार बनाने जा रही है, क्योंकि दिल्ली के लोगों को शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन व्यवस्था, प्रदूषण व जाम मुक्त दिल्ली चाहिए और यह सब तभी मुमकिन है जब निगम, विधानसभा एवं केन्द्र में एक ही पार्टी की सरकार हो। नाकामपंथियों का जिक्र आते ही अराजकता का व्यवहार और आचरण दिल्ली के मतदाताओं को इनसे दूर कर देता है। यह वही लोग है जो राजनीति को बदलने की इच्छा से आये थे और भ्रष्टाचार का हल्ला बोलकर उसके विरोध में जनलोकपाल की मांग लाये थे लेकिन दिल्ली की सत्ता में आते ही इन्होंने दिल्ली के विकास व व्यवस्था को सुधारने के लिए जो भी वादे किये उनमें से एक भी पूरा नहीं किया और अपनी नाकामियों का ठिकारा दूसरों पर फोड़ते रहे हैं।


     तिवारी ने कहा कि नकारात्मक विचारों के साथ इन लोगों ने सत्ता पाने के लिए हर वो झूठ बोला जिसे आधार बनाकर वो भाजपा प्रत्याशियों को चुनाव में बदनाम कर सके लेकिन दिल्ली के लोग समझदार है और उनके झूठ का जवाब जनता ने 12 मई, 2019 को भारी संख्या में मतदान करके दिया है। दिल्ली के लिए अभिशाप बन चुके नाकामपंथी अपनी नाकामियों के लिए अपनी पीठ थपथपाते नहीं थकते है। बीते साढ़े चार वर्षों में दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को चैपट कर इन्होंने केवल धर्म और जाति विशेष की राजनीति की है। अल्पसंख्यकों को खुश करने के लिए हमेशा बहुसंख्यक को दरकिनार किया है। दिल्ली की जनता धर्म और जाति की राजनीति कर समाज में विष घोलने वाली ऐसी शक्तियों को सत्ता से दूर करने के लिए विधानसभा चुनावों में मतदान करेगी।


     तिवारी ने कहा कि दिल्ली की जनता ने अब मन बना लिया है कि विधानसभा चुनावों में नाकामपंथियों को दिल्ली की सत्ता से उखाड़ कर भाजपा को चुनना है ताकि दिल्ली में सुचारू रूप से काम हो सके। दिल्ली के लोगों एक नये मूंड के साथ चल रहे है जिसके अनुसार देश में मोदी, दिल्ली में भाजपा, तभी बनेगी बात दिल्ली चले मोदी के साथ। केन्द्र सरकार ने दिल्ली में अनेकों काम किये जिसमें अकेले 46 हजार करोड़ की परियोजनाएं दिल्ली को जाम व प्रदूषण से मुक्त बनाने के लिए सड़क मंत्रालय ने किये जिसमें राष्ट्रीय राजमार्ग 709 बी, ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे, वेस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे और धौलाकुआं प्लाईओवर का निर्माण ताकि घण्टों का जाम से दिल्ली के लोगों को राहत दी जा सके। 

Copyright @ 2019.