राष्ट्रीय (04/06/2019) 
दिलीप षड़ंगी कलाकारों का साथ दें न कि कांग्रेस पार्टी का: राजेश अवस्थी
रायपुर। कांग्रेस पार्टी के सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष दिलीप षड़ंगी के द्वारा कांग्रेस सरकार की नाकामी छुपाने की कोशिश की। भाजपा सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक राजेश अवस्थी ने कहा कि मल्टीप्लेक्स में छत्तीसगढ़ी फिल्मों को लगाने के लिए जहां सब कलाकार 5 जून को मल्टीप्लेक्स बंद करवाने हेतु एकजुट हुए है ऐसे समय दिलीप षड़ंगी कलाकारों के साथ खड़े न होकर कांग्रेस पार्टी के माध्यम से राजनीतिकरण कर अपना उल्लू सीधा कर रहे है। इससे कांग्रेस पार्टी की नीयत और स्थिति स्पष्ट हो गई। 
उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के गरीब और संघर्षशील कलाकार लगातार छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक विरासत को बचाने में लगे हुए हैं और छत्तीसगढ़ की सभ्यता और कलासंस्कृति के लिए रातदिन पसीना बचा रहे है जिनकी चिंता पिछली भाजपा सरकार ने की थी परन्तु कांग्रेस सरकार आते ही छत्तीसगढ़ के कलाकारों के साथ अन्याय प्रारंभ हो गया है। जहां एक तरफ डॉ. रमन सिंह जी छत्तीसगढ़ के लोक कलाकारों, फिल्मकारों को तवज्जों देते थे जिसमें दिलीप षड़ंगी जैसे कलाकार भी हैं, जो भाजपा सरकार में अधिकतम कार्य किए हैं। आज जब वो कांग्रेस पार्टी में चले गए तो भाजपा सरकार को दोष दे रहे है। पार्टी ने दिलीप षड़ंगी से पूछा है कि पिछली सरकार के समय आपको जितना कार्य मिला है उन सब का व्यौरा स्पष्ट करे। सच सामने आ जाएगा। आज के स्थिति में जिन कलाकारों का भूपेश सरकार आने के बाद भुगतान नहीं हुआ एवं कोषालय से कई बार फाइल वापस हो चुका है इस विषय को दिलीप षड़ंगी को भूपेश सरकार के समक्ष रखना चाहिए। राजेश अवस्थी ने कांग्रेस सरकार से जानना चाहा है कि किन परिस्थितियों में छत्तीसगढ़ के कलाकारों का भुगतान रोका गया है स्पष्ट करें नही तो आने वाले समय में भारतीय जनता पार्टी द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा।
श्री अवस्थी ने कहा कि छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जी ने अपने वादानुसार फिल्म विकास निगम का गठन कर दिया है एवं आज भी पूरी भारतीय जनता पार्टी छत्तीसगढ़ के सभी कलाकारों के साथ खड़ी है। ऐसे स्थिति में कांग्रेस के तरफ से जो प्रतिक्रिया आयी है वो वेहद ही निराशाजनक और छत्तीसगढ़ के कलाकारों के हितों के विरूध्द है। कांग्रेस सरकार को जल्द से जल्द कलाकारों के हित में फैसला लेकर जमीनी स्तर पर लाकर सरकार द्वारा निराकरण किया जाना चाहिए।
Copyright @ 2019.