राष्ट्रीय (05/07/2019) 
केन्‍द्रीय बजट 2019-20 की प्रमुख विशेषताएं इस प्रकार हैं।

केन्‍द्रीय वित्‍त और कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारामन ने शुक्रवार को अपना पहला बजट भाषण पढ़ा और संसद में 2019-20 का बजट पेश किया। बजट की मुख्‍य विशेषताएं इस प्रकार हैं :

दशक के लिए दस बिन्‍दु की परिकल्‍पना

Ø  जन भागीदारी से टीम इंडिया का निर्माण : न्‍यूनतम सरकार अधिकतम शासन।

Ø  हरी-भरी पृथ्‍वी और नीले आकाश के साथ प्रदूषण मुक्‍त भारत बनाना।

Ø  डिजिटल इंडिया को अर्थव्‍यवस्‍था के प्रत्‍येक क्षेत्र तक पहुंचाना।

Ø  गगनयानचन्‍द्रयान, अन्‍य अंतरिक्ष और उपग्रह कार्यक्रमों की शुरूआत।

Ø  वास्‍तविक और सामाजिक बुनियादी ढांचे का निर्माण।

Ø  नीली अर्थव्‍यवस्‍था।

Ø  खाद्यान्‍नों, दालों, तिलहनों, फलों और सब्जियों में आत्‍मनिर्भरता और निर्यात।

Ø  आयुष्‍मान भारत, पोषणयुक्‍त मां और बच्‍चा के जरिए स्‍वस्‍थ समाज की स्‍थापना, नागरिकों की सुरक्षा।

Ø  एमएसएमई, मेक इन इंडिया के अंतर्गत स्‍टार्ट-अप्‍स, रक्षा निर्माण, मोटर वाहनों, इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स, वस्‍त्रों और बैटरियों तथा चिकित्‍सा उपकरणों पर जोर।

5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्‍यवस्‍था की ओर

Ø  वित्‍त मंत्री ने कहा कि लोगों के दिलों में आशाविश्‍वास और आकांक्षा है।

Ø  वर्तमान वर्ष में भारत की अर्थव्‍यवस्‍था 3 ट्रिलियन डॉलर हो जाएगी।

Ø  सरकार भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्‍यवस्‍था बनाना चाहती है।

Ø  उद्योग जगत भारत का रोजगार सृजक और देश का संपदा सृजनकर्ता है।

Ø  निम्‍न में निवेश की आवश्‍यकता है :

o   बुनियादी ढांचा

o    डिजिटल अर्थव्‍यवस्‍था

o   छोटी और मझोली कंपनियों में नौकरियों का सृजन

Ø  निवेश का उत्‍कृष्‍ट दौर शुरू करने के लिए अनेक पहलें प्रस्‍तावित।

Ø  ईज ऑफ डुइंग बिजनेस के लिए मुद्रा ऋणों के जरिए जन सामान्‍य के जीवन में बदलाव।

Copyright @ 2019.