राष्ट्रीय (03/08/2019) 
दिलचस्प मर्डर मिस्ट्री फ़िल्म है 'लफ़ंगे नवाब'
मुम्बई :'लफ़ंगे नवाब' एक दिलचस्प मर्डर मिस्ट्री फ़िल्म है,जो पिता-पुत्र के रिश्तों पर आधारित है। यह फ़िल्म झूठी दोस्ती की असलियत भी उजागर करती है। रोमांच से भरपूर मर्डर मिस्ट्री फ़िल्म 'लफ़ंगे नवाब' का म्यूज़िक मुम्बई लाइन क्राफ्ट प्रिव्यूव थ्रेयटर में आयोजित एक शानदार कार्यक्रम में फ़िल्म के सितारों और अन्य लोगों की मौजूदगी में लॉन्च किया गया। इस मौके पर फ़िल्म के प्रमुख सितारे रॉबिन सोही, रितम भारद्वाज व लरिसा चैक्ज़  के अलावा फ़िल्म के निर्देशक सनोज मिश्रा, निर्माता अर्पित अवस्थी व माही आनंद और गायक शाहिद माल्या ने भी अपनी शानदार उपस्थिति दर्ज कराई। उल्लेखनीय है कि इस फ़िल्म‌ का संगीत ज़ी म्यूज़िक कंपनी की ओर से जारी किया गया है।
    फ़िल्म की कहानी युग और उनके पिता के इर्द-गिर्द घूमती है। युग का अपना एक बैंड है,जिसमें उसके 4-5 दोस्त शामिल हैं। इस बैंड के माध्यम से युग छोटे-मोटे पर्फ़ॊर्मेंसेस करता है, जो उसके पिता को कतई पसंद नहीं है और वो चाहते हैं कि उनका बेटा उनके बिज़नेस को संभाले। ऐसे में पिता युग को सबक सिखाने की ठानते हैं और अपने ही घर में ही रहने वाली एमी के क़त्ल का नाटक रचते हैं और फिर युग को इस पूरे मामले में मदद करने को कहते हैं। एमी के क़त्ल का यह नाटक भारी पड़ जाता है और इस चक्कर में एमी सचमुच में मारी जाती है। अब सवाल उठता है कि एमी का क़त्ल किसने किया? फ़िल्म‌ की कहानी का ये एक ऐसा रहस्यमयी पहलू है, जिसका जवाब फ़िल्म की रिलीज़ के बाद ही मिलेगा।
   इस फ़िल्म के निर्माता माही आनंद ने इस मौके पर कहा, "फ़िल्म 'लफ़ंगे नवाब' के ज़रिए दर्शकों को सस्पेंस, रोमांच और मिस्ट्री का भरपूर डोज़ देखने को मिलेगा। निर्देशक सनोज मिश्रा ने कहा, "फ़िल्म की कहानी काफ़ी दिलचस्प है, जो आपको बांधे रखेगी।
 गुलशन आनंद फ़िल्म्स के तले बनी 'लफ़ंगे नवाब' एक सस्पेंस ड्रामा फ़िल्म है, जिसकी शूटिंग मुम्बई और लखनऊ के ख़ूबसूरत लोकेशन्स पर की गयी है। यह फ़िल्म देश भर में 23 अगस्त, 2019 को रिलीज़ होगी।
Copyright @ 2019.