राष्ट्रीय (10/08/2019) 
केजरीवाल के विधायकों के संस्कार मीडिया की सुर्खियों में हमेशा रहते है-मनोज तिवारी

नई दिल्ली, 10 अगस्त। भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष व उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सांसद  मनोज तिवारी पूरी दिल्ली में जनता की समस्याओं की सुनवाई के लिए जनसुनवाई सभाओं का आयोजन समय-समय पर करते रहते है। आज की जनसुनवाई में पूरी दिल्ली से लोग अपनी समस्याओं को लेकर प्रदेश अध्यक्ष व सांसद के पास आये। एक महिला ने विडियो दिखाते हुये अपने इलाके हर्ष विहार की समस्या को साझा करते हुये बताया कि किस प्रकार हर्ष विहार इलाके की सड़को की हालत खस्ता है और वहां पर वर्षा हो न हो साल भर गन्दे पानी का जलभराव रहता है जिसके कारण स्थानीय निवासियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर आवागमन में काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। महिला ने बताया कि क्षेत्र के  विधायक के सामने मामले को कई बार उठाया गया लेकिन हर बार विधायक ने यह कहकर लोगों को अपने निवास से लौटा दिया कि आपने हमें वोट नहीं दिया इसलिए आपकी सड़क नहीं बनेगी।

 

पूरे मामले को सुनने के बाद दिल्ली भाजपा अध्यक्ष  मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली के लोगों ने बड़ी आशाओं व आकाक्षाओं के साथ आम आदमी पार्टी को वोट दिया था कि भ्रष्टाचार का विरोध करने वाली पार्टी क्षेत्र के विकास के लिए काम करेगी। लेकिन दिल्ली की समस्याएं जस की तस बनी हुई है क्योंकि केजरीवाल सरकार ने 54 महीने के कार्यकाल बीत जाने के बाद भी दिल्ली की जनता से किए एक भी चुनावी वादे को पूरा नहीं किया। हर्ष विहार की समस्या इसका सम्पूर्ण उद्दाहरण है जहां पर समस्याओं का ढेर है लेकिन स्थानीय विधायक सुनने को तैयार नहीं है। महिला के अनुसार विधायक का कहना कि आपने वोट नहीं दिया इसलिए क्षेत्र में काम नहीं किया जायेगा आम आदमी पार्टी के चरित्र को जनता के सामने उजागर करता है। विधायक क्षेत्र का प्रतिनिधि है उसे जनता की समस्याओं को सुनने के बाद तुरन्त उसे हल करना चाहिए लेकिन केजरीवाल के विधायकों के संस्कार मीडिया की सुर्खियों में हमेशा रहते है।

 

 तिवारी ने कहा कि केजरीवाल खुद को जनता का रहनूमा बताते है लेकिन अपने विधायकों के कृत्यों पर कोई भी कार्यवाई करने से बचते है। सत्ता की लालसा में दिल्ली का दोहन करने वाली आम आदमी पार्टी को सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। नाकाम केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की जनता को सब्जबाग दिखाकर सत्ता का दुरूपयोग हमेशा  किया है। चुनावी फायदे के लिए मुफ्त सेवाओं की राजनीति करने वाले केजरीवाल ने जनता के साथ हमेशा धोखा किया, जिसका जवाब पहले दिल्ली निगम चुनाव और उसके बाद लोकसभा चुनाव में जनता ने आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों की जमानतें जब्त करवाकर दिया है। चुनावों को नजदीक पाकर केजरीवाल लोकलुभावन घोषणाएं कर दिल्ली के लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे है। केजरीवाल अपनी खिसकती राजनीतिक जमीन को बचाने के लिए मुफ्त योजनाओं की घोषणाएं करने में लगे है जिसके पूरा करने की कोई समय सीमा निर्धारित नहीं की गई है। क्योंकि समय सीमा तब निर्धारित की जाती है जब घोषणाओं को पूरा करना होता है। झूठ की बुनियाद पर राजनीति करना आम आदमी पार्टी के पुरानी आदत है। धर्म व जाति-पांति विशेष पर तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले केजरीवाल दिल्ली की सत्ता में बने रहने के लिए किसी भी हद तक गिर सकते है।      

 

Copyright @ 2019.