राष्ट्रीय (04/10/2020) 
नराधमों को फाँसी के तक्ते पर चढाना जरूरी - अन्ना हजारे

उत्तर प्रदेश के हाथरस गांव में एक बेटी के साथ कुछ नराधमोंने दुष्कृत्य किया। यह मानवता के लिए कलंक है। यह एक बेंटी की हत्या नहीं बल्कि मानवता की हत्या है। भारत एक ऋषीमुनीओं का देश कहा जाता है। भारत की संस्कृति दुनिया में श्रेष्ठ संस्कृति कहा जाता है। ऐसे देश में शर्म से गर्दन झुकनेवाला दुष्कृत्य होता है यह बात ठिक नहीं है। और एक चिन्ताजनक बात यह है की, जिन्होंने कानून और सुव्यवस्था को संभालना है वह लोग भी कानून और सुव्यस्था संभालने में अधुरे पडते है। यह बात इस देश के लिए चिन्ताजनक बात है।

          ऐसे नराधमों को फाँसी के तक्ते पर चढाना जरूरी लगता है। क्योंकी ऐसा कृत्य उनसे फिर से ना हो।

Copyright @ 2019.