राष्ट्रीय (05/01/2021) 
गरीब परिवारों के 10वीं में उत्तीर्ण विद्यार्थियों को अपनी इच्छानुसार उच्चतर शिक्षा पाठ्यक्रमों में नामित कर छात्रवृत्ति दिलाने के लिए अभियान चलाया जाएगा
नई दिल्ली, 5 जनवरी। उत्तर पश्चिमी जिला के बवाना विधानसभा क्षेत्र और दक्षिणी दिल्ली जिले में दिल्ली भाजपा अनुसुचित जाति मोर्चा द्वारा आयोजित प्रेस वार्ता को प्रदेश अनुसूचित जाति मोर्चा अध्यक्ष भूपेंद्र गोठवाल ने संबोधित किया। उन्होंने केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा अगले पांच वर्षों में 4 करोड़ से अधिक अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों के लिए मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति की केंद्रीय प्रायोजित परिवर्तनों के साथ अनुमोदित करने के लिए माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत का आभार जताया। इस अवसर पर बवाना विधानसभा के प्रत्याशी रविंद्र इंद्राजखुशी राम, उत्तर पश्चिम जिला अनुसूचित जाति मोर्चा अध्यक्ष विजय बाल्मीकि सहित जिले व मंडल के मोर्चा पदाधिकारी उपस्थित थे। 

प्रदेश अनुसूचित जाति मोर्चा अध्यक्ष भूपेंद्र गोठवाल ने कहा कि अगले पांच  वर्षों में लगभग 4 करोड़ से अधिक अनुसूचित जाति के छात्र-छात्राओं को लाभ पहुंचाने के लिए मैट्रिक छात्रवृत्ति जो पूर्व में 1100 करोड़ रुपए प्रति वर्ष थी, उसे भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा बढ़ाकर लगभग 59.048 करोड़ रुपए कर दिया है। छात्रवृत्ति सीधे बच्चों के खातों में जमा होगी। मोदी सरकार का मुख्य उद्देश्य समाज के अंतिम व्यक्ति तक सहायता पहुंचाना है, इस दिशा में छात्रवृत्ति योजना महत्वपूर्ण कदम है। गरीब परिवार के छात्र-छात्रा जो दसवीं पास करने के बाद अपना विद्यालय छोड़ देते थे, अब इस नई योजना के कारण उन्हें बीच में शिक्षा छोड़ने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। बच्चों को अपनी इच्छा अनुसार पढ़ने की रुचि में अब विराम नहीं लगेगा। यह छात्रवृत्ति की योजना गरीब वर्गों के लिए बहुत बड़ी सहायक होगी। उन्होंने कहा कि गरीब से गरीब परिवार के दसवीं उत्तीर्ण छात्रों को अपनी इच्छा अनुसार उच्चतर शिक्षा पाठ्यक्रम में नामित करने के लिए अभियान चलाया जाएगा ताकि सभी विद्यार्थियों को समय पर छात्रवृत्ति की राशि मिल सके।
Copyright @ 2019.